Home > Archived > बच्चों को व्यापार से जोड़े तो माँ- बाप के साथ रहेंगे

बच्चों को व्यापार से जोड़े तो माँ- बाप के साथ रहेंगे

बच्चों को व्यापार से जोड़े तो माँ- बाप के साथ रहेंगे

आदमी अकेला ही आया है, अकेला ही जावेगा, उसके साथ कुछ भी नहीं जायेगा। यदि यह बात खबके समझ में आ जाए तो सभी के जीवन से तनाव खत्म हो जावेगा तथा जीवन में शांति हो जावेगी।

यह बात आचार्य ज्ञान सागर ने चंद्रप्रभु मंदिर सोनागिर में प्रवचन के दौरान कही। श्री आचार्य ने कहा कि लोक अपना व्यवहार सबके प्रति उदार व प्रेम का बनाए और व्यवहार से आदमी लोगों के दिल में उतरे, दिल से नहीं उतरे। बच्चों को अच्छे संस्कार दें, उन पर अपनी बात नहीं थोपे, उन्हें समझायें, बच्चों को जॉब के लिए प्रेरित न करें, बल्कि यदि अपना व्यापार है तो उनको व्यापार से ही जोड़े, तो बच्चे मॉं-बाप से जुड़े रहेंगे, मॉं-बाप के साथ रहेंगे।

Share it
Top