Home > Archived > मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने राजस्थान में सरकारी सेवाओं में भर्ती के लिए दिया तोहफा

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने राजस्थान में सरकारी सेवाओं में भर्ती के लिए दिया तोहफा

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने राजस्थान में सरकारी सेवाओं में भर्ती के लिए दिया तोहफा

झुंझुनू। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे बुधवार कोराज्य सरकार की चौथी वर्षगांठ के अवसर पर झुंझुनू में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को संबोधित करते हुये प्रदेश के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका हर समय प्रयास रहता है कि प्रदेश के सभी नागरिकों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं मिल सके। आज उन्होंने प्रदेशवासियों और झुंझुनू जिले को अनेकों सौगातें दी।

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि अब प्रदेश में विभिन्न सेवाओं में सीधी भर्ती के लिए अधिकतम आयु सीमा 35 से बढ़ाकर अब 40 वर्ष होगी। आने वाले समय में एक लाख 40 हजार सरकारी नौकरियां और दी जाएंगी। सडक़ दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को निजी और सरकारी अस्पतालों में 48 घंटे की निशुल्क चिकित्सा। सरकारी अस्पतालों में हृदय रोगियों की एंजियोग्राफी निशुल्क की जायेगी। एक जनवरी, 2018 से प्रदेश के सहकारी भूमि विकास बैंकों से किसानों को केवल 5.5 प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध होगा। अभी ब्याज दर 6.7 प्रतिशत है। ऋण लेने वाले सभी किसानों का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना में आगामी 1 अप्रेल, 2018 से बीमा लाभ 6 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपए किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मण्डावा, गोठड़ा एवं खेतड़ी के अलावा 246 गांवों को मार्च, 2018 तक शुद्ध नहरी पेयजल उपलब्ध होगा। झुंझुनू के उदयपुरवाटी (ग्रामीण एवं शहरी) एवं बुहाना, चिड़ावा व सूरजगढ़ क्षेत्रों में पेयजल के लिये लगभग 1300 करोड़ रुपए की योजना लायेंगे। पिलानी क्षेत्र में भी पेयजल के लिये डीपीआर का काम हाथ में लिया जायेगा। इसके लिये 3 करोड़ रुपए का प्रावधान कर रहे हैं। आरयूआईडीपी के चौथे चरण में 100 करोड़ की लागत से खेतड़ी, 125 करोड़ की लागत से मंडावा तथा 60 करोड़ रुपए की लागत से नवलगढ़ में और झुंझुनू में 237 करोड़ रूपए खर्च कर पेयजल और सीवरेज के काम होंगे।

राजे ने कहा कि प्रदेश में सहकारिता के माध्यम से जैनेरिक दवाईयों के लिए चरणबद्ध रूप से 200 प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र खोले जाएंगे। किसानों को कोर बैंकिंग एवं मॉडर्न बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिये 190 करोड रु. की लागत से सभी पैक्स का कम्प्यूटराइजेशन किया जायेगा। 150 करोड़ रुपए से 1000 नवीन पशु चिकित्सा उप केन्द्रों व 100 पशुु चिकित्सालयों के भवन निर्माण करवाये जायेंगे।

झुंझुनू जिले में 47 नवीन पशु चिकित्सा उपकेन्द्र खोले जाएंगे। एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर एवं सम्बद्ध चिकित्सालयों में 25 करोड़ रुपए के उपकरण खरीदे जायेंगे एवं निर्माण कार्य करवाये जायेंगे। अजमेर, भीलवाड़ा, चूरू और बीकानेर जिले में 9 करोड़ रुपए प्रति चिकित्सालय की लागत से 50 बैड वाले एकीकृत आयुष चिकित्सालय खोले जायेंगे।

उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के पश्चात शहीद हुए सैनिकों के नाम से विद्यालय एवं गौरव पथ का नामकरण किया जायेगा। आजादी के बाद शहीद हुए सैनिकों के परिवार के एक सदस्य को राजकीय सेवा में नियुक्ति दी जायेगी। इंदिरा गांधी नहर परियोजना क्षेत्र में जिन पूर्व सैनिकों को भूमि आंवटन का निर्णय हुआ था, परन्तु आदेश जारी होने से पहले उनकी मृत्यु हो गई। अब उनके आश्रितों को भूमि का कब्जा दिया जाएगा। कारगिल पैकेज में राजस्थान आवासन मण्डल के जो आवास अभी तक आवंटित नहीं हुए, उन्हें आवंटित किया जायेगा। राष्ट्रीय खेल संस्थान, पटियाला की तर्ज पर झुंझुनू में राज्य क्रीड़ा संस्थान की स्थापना की जायेगी। सभी 15 अकादमियां इससे सम्बद्ध रहेगी। झुंझुनू में सैनिक स्कूल की स्थापना के लिये 184 करोड़ रुपये मंजूर। झुंझुनू जिले में 47 नवीन पशु चिकित्सा उपकेन्द्र खोले जाएंगे।

Share it
Top