Top
Home > Archived > डेंगू की जांच किट खत्म, रुकी 105 रक्त नमूनों की जांच

डेंगू की जांच किट खत्म, रुकी 105 रक्त नमूनों की जांच

डेंगू की जांच किट खत्म, रुकी 105 रक्त नमूनों की जांच

-गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय की घोर लापरवाही

ग्वालियर।
अंचल भर में जहां डेंगू बुखार का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं डेंगू से पीड़ित मरीजों की परेशानियां भी खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। शहर में गंदगी और जल भराव के बाद अब इस जानलेवा रोग की जांच पर भी संकट आ गया है। गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय में डेंगू की जांच किट खत्म हो जाने से यह स्थिति पैदा हुई है। ऐसे में अब यह पता लगाना मुश्किल हो जाएगा कि मरीज का इलाज कैसे किया जाए। हालांकि चिकित्सा महाविद्यालय प्रशासन जल्द ही किट मंगाए जाने की बात कर रहा है।

गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग में ग्वालियर सहित दतिया, शिवपुरी, मुरैना, भिण्ड, धौलपुर, टीकमगढ़ जिलों से भी डेंगू की जांच के लिए रक्त नमूने भेजे जाते हैं, लेकिन माइक्रोबॉयलाजी विभाग में बुधवार को डेंगू की जांच किट खत्म हो जाने के कारण 105 डेंगू के संदिग्ध मरीजों के रक्त नमूने वेटिंग में रख दिए गए हैं। यह स्थिति तब है, जब प्रदेश भर में डेंगू के मरीजों की संख्या लगतार बढ़ रही है। इसको लेकर संभाग आयुक्त से लेकर जिलाधीश लगातार डेंगू की समीक्षा बैठकें भी ले रहे हैं। उसके बाद भी डेंगू की जांच किट खत्म होना एक बड़ी लापरवाही है। इसके चलते अब चिकित्सकों को डेंगू के लक्षण के आधार पर ही मरीजां को उपचार देना पड़ेगा।

निजी पैथोलॉजी की जांच नहीं होती मान्य

डेंगू की अधिकारिक जांच केवल गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में ही होती। निजी पैथोलॉजी की जांच में अगर डेंगू की पुष्टि हो भी जाए तो उसे मान्यता नहीं दी जाती है। यही कारण है कि चिकित्सा महाविद्यालय में जांच ठप हो जाने से अब डेंगे के मरीजों को परेशानी होगी।
निजी पैथोलॉजी को होगा फायदा:- डेंगू के बढ़ते प्रकोप के बीच जांच किट खत्म हो जाने का फायदा अब सीधे शहर में संचालित निजी पैथोलॉजी को होगा। शहर में विभिन्न पैथोलॉजी पर डेंगू की जांच के नाम पर 2000 से 2700 रुपए तक वसूले जा रहे हैं।

इनका कहना है

‘‘जांच किट खत्म होने के पहले ही मांग पत्र भेज दिया गया था, लेकिन अभी तक आपूर्ति नहीं की गई है। इस कारण डेंगू की जांच नहीं हो पा रही है। संभवत: गुरुवार तक किट आ जाएंगी।’’

डॉ. के.पी. रंजन
प्रवक्ता, गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय

1683 की हो चुकी है जांच, 434 पर पहुंच चुका है डेंगू पीड़ितों का आंकड़ा

इस सीजन में डेंगू के 1683 संदिग्ध मरीजों के रक्त नमूनों की जांच की जा चुकी है। इनमें 434 मरीजों को डेंगू की पुष्टि हुई है। 1686 संदिग्ध मरीजों में से अकेले ग्वालियर के ही 990 मरीज शामिल हैं। इनमें अभी तक 233 मरीजों की डेंगू की पुष्टि की जा चुकी है। इसके अलावा अन्य 693 संदिग्ध मरीज मुरैना, शिवपुरी, धौलपुर, भिण्ड, टीकमगढ़ के हैं।

Share it
Top