Home > Archived > अन्नदाता की आय दोगुनी करने का संकल्प : प्रधानमंत्री मोदी

अन्नदाता की आय दोगुनी करने का संकल्प : प्रधानमंत्री मोदी

अन्नदाता की आय दोगुनी करने का संकल्प : प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली। वर्ल्ड फूड इंडिया के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आगामी 5 साल में हमें किसानों की आय दोगुनी करनी है। इस दिशा में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग का यह आयोजन काफी उम्मीदों से भरा है। इससे खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में बड़ी कंपनियां भाग लेंगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने दोहराया कि हमने डिब्बा बंद खाद्य में शत प्रतिशत विदेशी पूंजी निवेश को मजूरी दे दी है।

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में भारत के अचार, पापड़ और मुरब्बे आदि की चर्चा करते हुए कहा कि यहां का समाज परम्परा से खाद्य प्रसंस्करण को अपनाता आया है। हम खाद्य पदार्थों को संरक्षित रखने की इस परम्परा को कायम रखते हुए आधुनिकतम तकनीक का इस्तेमाल कर नए आयाम खोलना चाहते हैं। इस क्षेत्र में रोजगार सृजन और व्यापार की अपार संभावनाएं हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि खाद्य पदार्थों का संरक्षण भारतीय जीवन पद्धति का अंग रहा है। हम नए सिरे से इस क्षेत्र में तेजी लाना चाहते हैं। खाद्य पदार्थों में आए बदलाव से हो रही बीमारियों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लोग अब ऑर्गेनिक खेती की ओर देख रहे हैं। भारत इस दिशा में पहले ही कदम बढ़ा चुका है। हमारे देश का सिक्किम एक ऐसा राज्य हो गया है जहां 100 प्रतिशत जैविक खेती ही हो रही है। हमें इस ओर तेजी से बढ़ना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने बताया कि हल्दी, अदरक, तुलसी आदि के औषधीय गुणों के बारे में हम भारतवासियों ने ही विश्व को अवगत कराया है। इन सबके साथ ही अनेक प्रकार के फल इत्यादि भारत के वातावरण में उपज सकते हैं। हम आधुनिक तकनीक का प्रयोग कर पता लगा रहे हैं कि किस क्षेत्र में कौन से फल या सब्जी की उत्पादन व गुणवत्ता बेहतर हो सकती है। हम बागवानी के क्षेत्र में विश्व का सिरमौर बन सकते हैं। हम दुग्ध उत्पादन में विश्व के दूसरे नंबर पर हैं। हम दूध का उत्पादन बढ़ाकर उसके उत्पादों का निर्यात भी कर सकते हैं। प्रधानमंत्री ने ई-नैम व भू-अभिलेखों के डिजीटल रिकार्ड रखने के साथ ही खेती-किसानी के क्षेत्र में लागू की गई अनेक योजनाओं की भी चर्चा की।


Share it
Top