Top
Latest News
Home > Archived > डीएलएड विद्यार्थियों को मिलेगा, यह परीक्षा देने का अवसर

डीएलएड विद्यार्थियों को मिलेगा, यह परीक्षा देने का अवसर

डीएलएड विद्यार्थियों को मिलेगा, यह परीक्षा देने का अवसर

कोलकाता। एनसीटीई के नियमानुसार ही शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। यह सूचना शिक्षामंत्री पार्थ चटर्जी ने बुधवार अपने निवास पर पत्रकार सम्मेलन के दौरान दी। उन्होंने कहा कि जिन विद्यार्थियों ने अपने नाम डीएलएड में पंजीकृत किया है वे टेट की परीक्षा में बैठ सकेंगे। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि डीएलएड की परीक्षाफल नहीं रोकी जा सकती। जो विद्यार्थी पार्ट-1 की परीक्षा दे चुके हैं उनके परीक्षाफल 15 नवम्बर के भीतर प्रकाशित करना होगा। इसमें से जो परीक्षा उतीर्ण करेंगे उन्हें पार्ट-2 परीक्षा दिसम्बर में देना होगा। प्राईमरी टेट के मामले में दर्ज शिकायत को लेकर उन्होंने कहा कि “दुःख की बात है। लेकिन राज्य सरकार बेकार युवकों को नौकरी देने के उद्देश्य से काम कर रही है। जब भी शिक्षक नियुक्ति की विज्ञप्प्ति जारी की गई तब वामपन्थी वकीलों की नियुक्ति रुक गई। इस समस्या के समाधान की सरकार कोशिश कर रही है। इसके संशोधन के लिए एक विज्ञप्ति जारी की गई थी। कहा गया था कि जिन लोगों ने टेट पास किया है उनकी नियुक्ति की जाएगी। इसके लिए रुपए खर्च करके हाईकोर्ट जाने की जरूरत नहीं। मुझे ऐसी सूचना मिली है।“ गौरतलब है कि डीएलएड छात्रों के परिक्षाफल देर से प्रकाशित होने को लेकर कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन किया गया था। कहीं विद्यार्थियों ने आरोप लगाया कि पार्ट-1 की परीक्षाफल अब तक नहीं प्रकाशित की गई। किसी विद्यार्थी ने आरोप लगाया कि 2015 सत्र के 17 के अन्त तक परिक्षाफल नहीं प्रकाशित की गई। इसे देखते हुए यह निर्देश जारी किया गया है कि डीएलएड छात्रों को भी टेट परिक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी।

डीएलएड छात्रों मामले को शिक्षामंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि “प्राथमिक शिक्षा परिषद के साथ हमलोगों ने बातचीत कर यह जानने की कोशिश किया है कि जिन छात्रों ने डीएलएड के पार्ट-1 की परीक्षा दी है, लेकिन परीणाम घोषित नहीं हुए हैं इसके पीछे परिषद की कुछ असुविधाएं हैं।“

Next Story
Share it
Top