Home > Archived > अपनों ने ही घेरा व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सदस्य को

अपनों ने ही घेरा व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सदस्य को

अपनों ने ही घेरा व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सदस्य को

मामला चेम्बर में प्रॉक्सी खत्म कराने का

ग्वालियर/ विशेष प्रतिनिधि। व्हाइट हाउस के जिस वरिष्ठ सर्वेसर्वा से एक एक वोट के लिए जो लोग उनके दरवाजे पहुंचते थे, उन्हीं ने चेम्बर संविधान संशोधन उप समिति की बैठक में बाहर के मतपत्र खत्म कराने के लिए एड़ीचोटी का जोर लगा दिया। हालांकि उप सर्मित द्वारा लिए निर्णय पर अभी कार्यकारिणी में चर्चा होना है। शुक्रवार की शाम आयोजित इस बैठक में दो पदाधिकारी और एक वरिष्ठ सदस्य पहले से ही यह ठानकर आए थे कि इसबार बाहर के मतपत्र खत्म कराकर रहेंगे। फिर बैठक में मौजूद व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सदस्य की आपत्तियों को दरकिनार कर यह कह दिया गया कि इस मामले में आपका विरोध दर्ज कर लेते हैं।

इतना ही नहीं एक वरिष्ठ सदस्य ने कहा कि पिछली बैठक में आप नहीं आए थे तभी तय हो गया था, उसी के मिनिट्स पढेÞ जा रहे हैं। यहां बात दे कि चेम्बर ने अपनी ख्याति बढ़ाने के लिए देशभर के शहरों में अपने सदस्य बनाए थे, तब यह व्यवस्था दी गई थी, कि शहर से बाहर के सदस्यों को डाक से मतपत्र भेजकर उन्हें मतदान में हिस्सा लेने की पात्रता थी। पिछले चुनाव के पहले कुछ लोग इस तरह की व्यवस्था को गलत बताकर उच्च न्यायालय की शरण में गए थे, लेकिन तब भी इन सदस्यों को डाक के जरिए मतदान का हक मिला था। किन्तु इस बार इस मामले में व्हाइट हाउस ही दो फाड़ हो रहा हैं, क्योंकि एक वरिष्ठ सदस्य को कमजोर करने प्रौक्सी वोट खत्म किए जा रहे हैं, जबकि अब तक व्हाइट हाउस से चुनाव लड़ने वाले दावेदार यह वोट हांसिल करने उन्हीं वरिष्ठ सदस्य की शरण में जाते थे।

क्रिएटिव हाउस बिना लडेÞ जीता

क्रिएटिव हाउस के लोगों को हमेशा ही प्रौक्सी वोट का भय सताता था, और जो चुनाव लड़ता था वह यह सोचता था कि सामने वाले पर 250 वोट पहले से ही हैं। लेकिन क्रिएटिव के इस मुद्दे को स्वयं व्हाइट हाउस के लोगों ने खत्म करने की ठानकर उसे बैठे-बिठाए ही जिता दिया। इसलिए उपसमिति की बैठक में व्हाइट हाउस के लोगों की तकरार को क्रिएटिव हाउस के पदाधिकारी बडेÞ आराम से सुनकर मंदमंद मुस्करा रहे थे।

Share it
Top