Home > Archived > त्यौहारों का गुलदस्ता लेकर आएगा कार्तिक माह

त्यौहारों का गुलदस्ता लेकर आएगा कार्तिक माह

त्यौहारों का गुलदस्ता लेकर आएगा कार्तिक माह

-गंगा स्नान करने से सभी पाप होंगे नष्ट, कार्तिक माह शुरू, हर दिन लोक कल्याणकारी
ग्वालियर। हिंदू धर्म शास्त्रों में कार्तिक मास का विशेष महत्व है। इस मास का प्रत्येक दिन अपनी विशिष्टताओं को समेटे हुए है, जिससे इसे दिव्य कार्तिक माह भी कहते हैं, जो त्योहारों का गुलदस्ता लेकर आता है। 6 अक्टूबर से शुरू होने वाला कार्तिक माह 4 नवंबर को समाप्त होगा।

कार्तिक माह की महत्ता के बारे में ज्योतिषाचार्य प.सतीश सोनी ने बताया कि इस माह नियम व संयम का पालन करते हुए गंगा स्नान, नदी, तालाब या सरोवर में स्नान करने पर सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। कार्तिक स्नान आने वाली सर्दी को सहन करने की शक्ति प्रदान करता है। उन्होंने बताया कि इस महीने में चंद्रमा की किरणें पृथ्वी पर सीधे पड़ती हैं। उन्होंने बताया कि बल बुद्धि की प्राप्ति के लिए कार्तिक मास में सुबह स्नान करना जरूरी है। दीपक जला कर घर को साफ रखना, स्वच्छ वस्त्रों को पहनना स्वास्थ्य के लिए हितकारी होता है।

दस्तक देगी ठंड

शरद पूर्णिमा के साथ ही ऋतु में बदलाव का दौर शुरू होगा। ज्योतिषाचार्य श्री सोनी ने बताया कि अब ठंड का असर धीरे-धीरे दिखाई देगा। वहीं मंदिरों में प्रसाद व लोगों के खानपान में भी बदलाव आएगा।

कार्तिक पूजा के दौरान ध्यान दें इन बातों पर

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी ने बताया कि पूरे कार्तिक माह पूजा की जाती है. इस दौरान शराब-धूम्रपान आदि सब निषेध होता है। इस दौरान प्याज, लहसुन, मीट मछली नहीं खाना चाहिए। जो लोग कार्तिक स्नान और व्रत करते हैं तो उन लोगों को नीचे सोना चाहिए।

कार्तिक माह में आने वाले बड़े त्यौहार

8 अक्टूबर- करवा चौथ
12 अक्टूबर- गहोई अष्टमी
15 अक्टूबर- रमा एकादशी
16 अक्टूबर- गौवत्स द्वादश
17 अक्टूबर- धनतेरस
18 अक्टूबर- रूप चतुर्दशी
19 अक्टूबर- दिवाली
20 अक्टूबर- गोवर्धन पूजा
21 अक्टूबर- भाईदूज
25 अक्टूबर- सौभाग्य पंचमी
24,25,26 अक्टूबर- छठ
28 अक्टूबर- गोपाष्टमी
29 अक्टूबर- आंवला नवमी
31 अक्टूबर- देव एकादशी
3 नंवबर- वैकुंठ चतुर्दशी
4 नंवबर- कार्तिक पूर्णिमा, देव दीपावली

Share it
Top