Home > Archived > धनतेरस का महापर्व, जाने पूजा का शुभ महूर्त

धनतेरस का महापर्व, जाने पूजा का शुभ महूर्त

धनतेरस का महापर्व, जाने पूजा का शुभ महूर्त

-सजकर तैयार हुए शहर के बाजार, राशि के अनुसार करें खरीदारी
ग्वालियर। धनतेरस का महापर्व आज मंगलवार को मनाया जाने वाला है। धनतेरस के पर्व को लेकर शहर के सभी बाजार सजकर तैयार हो गए हैं और बाजारों में जमकर भीड़ हो रही है। स्थिति यह है कि बाजार में चलना तक मुश्किल हो रहा है। वहीं धनतेरस के पर्व पर कला निधि योग धनवान बनाने जा रहा है। ज्योतिषाचार्याें के अनुसार धनतेरस के पर्व पर राशि के अनुसार खरीदारी करना बहुत फलदायक होगा। वहीं दूसरी ओर टोपी बाजार में आने वाले ग्राहकों का स्वागत रेड कार्पेट से किया जाएगा।

टोपी बाजार में ग्राहकों का रेड कार्पेट पर होगा स्वागत:- शहर के मुख्य बाजार टोपी बाजार में त्यौहार के इस मौसम में पांच दिवसीय कार्निवाल का आयोजन किया जा रहा है। इस आयोजन के अंतर्गत पूरे बाजार को एलईडी लाइटों से सजाया गया है।

टोपी बाजार में आने वाले ग्राहकों के स्वागत हेतु रेड कार्पेट भी बिछाया गया है। टोपी बाजार के प्रत्येक प्रवेश द्वार पर आकर्षक विद्युत सज्जा के साथ ग्राहकोें के लिए प्रवेश द्वार भी बनाए गए हैं। वहीं शहर के अन्य सभी बाजार भी दुल्हन की तरह सजे हुए हैं।

राशियों का शुभ मुहुर्त

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार मेष, तुला, कर्क एवं मकर राशि के लिए शुभ मुहूर्त दोपहर 01 बजकर 50 मिनट से 03 बजकर 20 मिनट तक है। वहीं शाम को 06 बजकर 20 मिनट से 07 बजकर 50 मिनट तक है। वृषभ, सिंह, वृश्चिक और कुंभ राशि वालों के लिए शुभ समय शाम को 03 बजकर 20 मिनट से 04 बजकर 50 मिनट तक है। मिथुन, कन्या, धनु एवं मीन राशि के लिए शुभ समय शाम को 06 बजे से रात्रि 10.50 बजे तक है। इसी क्रम में स्थिर लग्न वृषभ में सभी राशि वालों के लिए शुभ समय शाम को 06 बजे से 08 बजकर 15 मिनट तक है।

प्रोफेशन के अनुसार करें खरीदारी

-धनतेरस पर कारोबारियों को तिजोरी, तराजू एवं बही खाता खरीदना बहुत शुभ होगा।
-नौकरी पेशा लोग सफेद, सुनहरे और नीले कपड़ें खरीदें।
-विद्यार्थी कॉपी, किताबें, पेन, पेन्सिल एवं धर्म ग्रंथ को खरींदे।
-मीडियाकर्मी कैमरा, कंम्प्यूटर, झूमर, लक्ष्मी-गणेश खरीदने के साथ महादेव का अभिषेक करें एवं हनुमान चालीस पढ़ें।

-बैंकर्स और फाइनेंसर लेखनी, धर्मग्रंथ, लक्ष्मी अष्टक स्त्रोत खरीदकर विष्णु सहनाम का जाप करें।
-चिकित्सा से जुड़े लोग अपने कार्य के जुड़ी वस्तु खरींदे और पीतल की कटोरी धर्म स्थान पर दान दें।
-इंजीनियरिंग से जुड़े लोग तांबे का कुबेर यंत्र खरींदे और घर में घी का दीपक जलाएं।
-फैशन इंडस्ट्री से जुड़े लोग सोना चांदी के आभूषण खरीदें और सुहाग सामग्री लक्ष्मी मंदिर में दें।

आज होगा करोड़ों का कारोबार

धनतेरस के पर्व को लेकर शहर के सभी बाजार सजकर तैयार हो गए हैं। इन दौरान कपड़ा, बर्तन, इलेक्ट्रोनिक्स, कॉस्मेटिक आदि की जमकर खरीदारी होगी। मिली जानकारी के अनुसार धनतेरस के पर्व पर शहर में करोड़ों रुपए के कारोबार होने की संभावना है।

महाराज बाड़ा क्षेत्र पर सबसे अधिक भीड़:-महाराज बाड़ा क्षेत्र पर इस समय ग्राहकों और अस्थायी दुकानदारों की जमकर भीड़ देखने को मिल रही है। महाराज बाड़ा की स्थिति यह है कि यहां अस्थाई दुकानदार फुटपाथों पर लगी दुकानों पर ही रात को सो जाते हैं और सुबह उठकर अपनी दुकान पुन: शुरू कर देते हैं। महाराज बाड़ा क्षेत्र में सुबह से लेकर देर रात तक लोगों की जबरदस्त भीड़ देखने को मिल रही है।

धनतेरस पर कला निधि योग धनवान बनाएगा

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार धनतेरस पर इस बार बहुत ही अच्छा संयोग बन रहा है। धनतेरस पर शुक्र, मंगल एवं चन्द्रमा की युक्ति से धनलक्ष्मी योग, कला निधि योग धनवान बनाने जा रहा है। ज्योतिषाचार्य के अनुसार इस इस दिन श्रीवत्स योग होने एवं प्रदोष बेला में की गई पूजा से महालक्ष्मी शीघ्र ही प्रसन्न होंगी।

धनतेरस पर हुआ धनवंतरी का जन्म:-

धनतेरस के दिन आरोग्य के देवता धनवंतरी का जन्म भी समुद्र मंथन से हुआ था। धनवंतरी देवता आयुर्वेद के जनक कहे जाते हैं। इस दिन यमराज को दीपदान करने से यमराज के क्रोध से भी छुटकारा मिलता है और परिवार में अकाल मृत्यु का भय भी समाप्त होता है।

इन वस्तुओं के खरीदने से होता है बहुत लाभ

धनतरेस के पर्व पर लक्ष्मी-गणेश चांदी के, धातुओं के बर्तन, शुद्ध सोने-चांदी के आभूषण, श्रीयंत्र, झाडू, वस्त्र, नमक, शंख, धनियां खड़ा, इलेक्ट्रोनिक्स वस्तुएं, मिट्टी के दीपक, गोमती चक्र एवं कुबेर की फोटो खरीदने से 13 गुणा लाभ होता है।

पूजन का शुभ मुहुर्त:- इस दिन शाम 06.04 मिनट से 08.28 मिनट तक यमदीप दान एवं श्री पूजन करने से धन, स्वास्थ्य और आयु में वृद्धि होती है।

इस समय करें खरीदारी

धनतेरस पर शुभ मुहूर्त के अंतर्गत सुबह 11 बजकर 02 मिनट से 12 बजकर 20 मिनट तक लाभ का योग है। इसी क्रम में दोपहर 12 बजकर 28 मिनट से एक बजकर 54 मिनट तक अमृत बेला का योग है। वहीं प्रदोष बेला शाम 06 बजकर 06.15 मिनट तक रहेगी।

राशि और फलदायी खरीदारी धनतेरस पर

-मेष राशि के जातक तांबा, इलेक्ट्रोनिक्स सामान एवं भूमि भवन।
-वृषभ राशि के जातक डायमण्ड ज्वेलरी, चावल एवं चांदी।

-मिथुन राशि के जातक मकरज से बनी गणेश प्रतिमा एवं हरे वस्त्र।
-कर्क राशि के जातक श्रीयंत्र स्फटिक एवं चांदी।
-सिंह राशि के जातक अनाज, तांबा एवं कपड़े।
-कन्या राशि के जातक हरे मूंग, फ्लेट एवं वाहन।
-तुला राशि के जातक कम्प्यूटर, लैपटॉप एवं कॉसमेटिक का सामान।
-वृश्चिक राशि के जातक भूमि, भवन एवं इलेक्ट्रोनिक्स का सामान।
-धनु राशि के जातक फर्नीचर, कपड़े एवं घरेलू सामान।
-मकर राशि के जातक सोफा, वाहन एवं प्रॉपर्टी।
-कुंभ राशि के जातक नीलम, लोहे का सामान एवं सोना।
-मीन राशि के जातक सोना, चांदी, धार्मिक गंथ एवं वाहन।

Share it
Top