Home > Archived > अस्तित्व के आधार को नष्ट न करें

अस्तित्व के आधार को नष्ट न करें

अस्तित्व के आधार को नष्ट न करें

-राम कथा के अंतिम दिन मां कनकेश्वरी देवी ने कहा
ग्वालियर। भगवान की कथा का आधार भगवत चिंतन है, लेकिन आज मनुष्य अपने अस्तित्व के आधार को ही नष्ट कर रहा है। जल, नदी और वृक्षों को नष्ट किया जा रहा है। इस कारण प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा है। जीवन में सत्संग का आधार प्राप्त न होने के कारण ऐसा होता है, इसलिए मनुष्य को चाहिए कि वह अस्तित्व के आधार को नष्ट न करे और न नष्ट होने दे। यह विचार राष्ट्र संत मां कनकेश्वरी देवी ने रविवार को रामलीला मैदान मुरार में आयोजित श्रीराम कथा के अंतिम दिन रविवार को व्यक्त किए।

श्रीराम कथा का शुभारंभ पोथी पूजन और गुरु वंदना से किया गया। तत्पश्चात मां कनकेश्वरी देवी ने कहा कि गुरु कभी नहीं कहेगा कि उसके पास योग्य बनकर आओ। उन्होंने उदाहरण देते हुए समझाया कि गंगा कभी नहीं कहेगी कि स्नान करके आओ। हमें अयोग्यता को स्वीकार करके ही गुरु की शरण में जाना चाहिए। उन्होंने अन्य उदाहरण देते हुए कहा कि जिस प्रकार चिकित्सक मरीज को देखकर बता देता है कि वह ठीक हो सकता है कि नहीं। ठीक उसी प्रकार सदगुरु बता देते हैं कि अमुक व्यक्ति का कल्याण होगा अथवा नहीं। इसलिए गुरु के चरणों पर आश्रित रहने वाला व्यक्ति यशस्वी होता है।

आध्यात्म से बढ़ती है आत्मिक ताकत: तोमर

श्रीराम कथा के समापन उपरांत अपने उद्बोधन में कथा के मुख्य यजमान केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने राष्ट्र संत कनकेश्वरी देवी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मानव की आत्मिक ताकत आध्यात्म से बढ़ती है। धर्म का प्रचार लोगों को प्रभु से जोड़ने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि वैसे तो आगामी वर्ष 2018 में यहां पर कथा प्रस्तावित थी, लेकिन मेरे विशेष आग्रह पर मां के आशीर्वाद से यह कथा संपन्न हुई। कथा श्रवण से क्षेत्र में नौ दिन तक लगातार रामरस की गंगा प्रवाहित होती रही।

इन्होंने किया पोथी पूजन व आरती

श्रीराम कथा के अंतिम दिन केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, उनकी धर्मपत्नी श्रीमती किरण सिंह, दोनों पुत्र देवेन्द्र प्रताप (रामू), प्रबल प्रताप (रघु), पुत्री निवेदिता सिंह, उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल, सांसद भागीरथ प्रसाद, विधायकगण नरेन्द्र सिंह कुशवाह, नारायण सिंह कुशवाह, भारत सिंह कुशवाह, घनश्याम पिरोनिया, साडा अध्यक्ष राकेश जादौन, मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष राजू बाथम, बाबूलाल जोशी, रामबाबू कटारे, सुरेश गौड़, उमेश उप्पल, नरेन्द्र सिंघल, अरुण तोमर, दिनेश दीक्षित, अशोक जैन, अशोक जादौन, महेन्द्र सेंगर, कौशल शर्मा, रमेश तोमर, देवेन्द्र श्रीवास्तव, धर्मवीर गुर्जर, बृजेन्द्र कुशवाह, अमरीश शर्मा, शशांक जैन एवं गौरव जैन आदि ने पोथी पूजन और श्री रामायण की आरती की। अंत में आभार महेश मुदगल ने व्यक्त किया।

Share it
Top