Top
Home > Archived > डिजिटलीकरण से सुदृढ़ हुई देश की अर्थव्यवस्था: सिन्हा

डिजिटलीकरण से सुदृढ़ हुई देश की अर्थव्यवस्था: सिन्हा

डिजिटलीकरण से सुदृढ़ हुई देश की अर्थव्यवस्था: सिन्हा

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री के आतिथ्य में हुआ डिजि-धन मेला का आयोजन

ग्वालियर|
नगदी के डिजिटलीकरण के बाद देश की अर्थव्यवस्था सुदृढ़ हुई है। इसके बेहतर परिणाम आगामी कुछ समय में देखने को मिलेंगे। यह बात केन्द्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने सोमवार को ग्वालियर व्यापार मेला परिसर स्थित फैसिलिटेशन सेंटर में डिजि-धन मेला के शुभारंभ अवसर पर मुख्य अतिथि की आसंदी से कही।

श्री सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में मुद्रा के डिजिटलीकरण की प्रक्रिया का शुभारंभ 8 नवम्बर 2016 को 500 और 1000 रुपए के नोटों को बदलने के साथ प्रारंभ हुआ। इस व्यवस्था के लागू होने के कारण देश में भ्रष्टाचार, आतंकवाद, जमाखोरी, कालाधन पर अंकुश लगाया जा सका है। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह व्यवस्था जिसे लोगों द्वारा नोटबंदी बोल रहे हैं, वास्तव में यह नोटबंदी न होकर नोट बदली की प्रक्रिया थी, जिसने देश की अर्थव्यवस्था को बदला है।

श्री सिन्हा ने कहा कि नई व्यवस्था लागू हो जाने के बाद सरकार ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मूल मंत्र को मूर्तरूप में परिवर्तित कर रही है। यह व्यवस्था लागू होने से देश की नगद अर्थव्यवस्था को नियंत्रित किया जा सका है और टैक्स जीडीपी बढ़ी है। बैंकों के पास राशि बढ़ी है, जिससे बैंकों की ब्याज दर कम हुई है, उसका लाभ आम लोगों को मिल रहा है। श्री सिन्हा ने ग्वालियर जिला प्रशासन द्वारा लोगों को डिजि-धन के बारे में समझाने के लिए आयोजित मेले के लिए बधाई दी और कहा कि डिजिटल भुगतान एक आसान प्रक्रिया है। इसमें युवाओं को आगे आकर व्यवहार में अपनाना चाहिए।

इससे पूर्व जिलाधीश डॉ. संजय गोयल ने डिजि-धन मेले के आयोजन के विषय में बताया और मेले में आए छात्र-छात्राओं से कहा कि वह लोग अपने माता-पिता और मिलने वालों को इसके लिए प्रेरित करें। कार्यक्रम के दौरान डिजिटल पेमेन्ट प्रक्रिया को लोकप्रिय बनाने के लिए विभिन्न बैंकिंग संस्थाओं द्वारा उपयोग किए जा रहे एप्स के उपयोगकर्ताओं को लॉटरी द्वारा चयनित किया गया। इस प्रक्रिया में एसएसडी, यूपीआई, रूपे एप्स के विजेताओं के ड्रॉ निकाले गए। इसी क्रम में जिला प्रशासन द्वारा महाविद्यालय और विद्यालय स्तर पर डिजिटल पेमेन्ट प्रक्रिया के संबंध में आयोजित की गर्इं विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया।

बैंकों व विभागों ने लगाए स्टॉल
डिजि-धन मेला परिसर में सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों तथा ऐसे शासकीय विभाग, जो धन का आमजन से लेन-देन करते हैं, उन्होंने स्टॉल लगाए और आने वाले लोगों को डिजिटल पेमेन्ट की प्रक्रिया के बारे में बताया।

जिले के सात कार्यालय हुए कैशलेस
मेले के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि ग्वालियर जिले के सात कार्यालय सेना, कलेक्ट्रेट, जिला पंचायत और उसकी सभी जनपद पंचायतें, नगर निगम, खादी ग्रामोद्योग, एमपीसीटी कॉलेज और प्रेस्टीज कॉलेज ने अपने आप को पूरी तरह नगद रहित बना लिया है।

Share it
Top