Latest News
Home > Archived > लिंग परीक्षण का भंड़ाफोड़ युवती गिरफ्तार

लिंग परीक्षण का भंड़ाफोड़ युवती गिरफ्तार

संजीवनी हॉस्पीटल में कराती थी परीक्षण
एक केश के लेती थी आठ हजार रुपये

आगरा। एक युवती आठ हजार रुपये में लिंग परीक्षण करवाती थी। वह गर्भवती महिलाओं से संपर्क करती और लिंग परीक्षण करवाती थी। इस पूरे लिंग परीक्षण रैकेट का भंड़ाफोड़ एक डॉक्टर ने किया। उन्होंने एक युवती को पकडा है। बताया जा रहा है कि यह युवती आठ हजार रुपये में लिंग परीक्षण के लिए दंपति से संपर्क करती थी। हॉस्पिटल में गर्भवती महिला को ले जाकर अल्ट्रासाउंड कराती थी।

दंपति को बता देती थी कि लडकी हुई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम युवती और दंपति से पूछताछ कर रही है। बता दें कि लिंग परीक्षण को लेकर पहले भी आगरा में कई मामले सामने आये हैं।

मामला आगरा के यमुना पार क्षेत्र में डॉ. भूपेंद्र प्रसाद का संजीवनी हॉस्पिटल का है। यहां 25 दिसंबर से एक महिला हर रोज दो से तीन गर्भवती महिला को अल्ट्रासाउंड कराने को लेकर आती थी। मंगलवार को महिला अपने साथ धौलपुर निवासी मनीषा को लेकर पहुंची, उसका अल्ट्रासाउंड कराया। इसी बीच वहां हॉस्पिटल के पुराने स्टाफ ने महिला को पहचान लिया।

उसने डॉक्टर को महिला द्वारा लिंग परीक्षण कराने के लिए बुकिंग किए जाने की जानकारी दी। इस पर डॉक्टर ने महिला को पकड़ लिया, लेकिन तब तक मनीषा वहां से अपने पति के साथ जा चुकी थी। डॉक्टर भूपेंद्र प्रसाद ने साहस दिखाया और लिंग परीक्षण कराने वाले रैकेट को पकड़वाने की प्लानिंग की। दंपति के मोबाइल पर संपर्क कर उसे हॉस्पिटल में बुला लिया। उनसे पूछताछ की गई तो पता चला कि लिंग परीक्षण कराने वाली महिला का नाम ममता निवासी नंदलाल पुर है, उसने लिंग परीक्षण कराने के लिए आठ हजार रुपये लिए थे।

हमेशा लडक़ी ही बताती थी
पूछताछ में कई चौकाने वाले मामले सामने आये। उसने बताया कि वह ज्योति हॉस्पिटल में सामान्य तौर पर गर्भवती महिला का अल्ट्रासाउंड कराती थी। कुछ देर डॉक्टर क्लीनिक में बैठती। बाहर आकर बता देती थी कि लडक़ी है। गर्भ में लडक़ा हो या लडक़ी वह लडक़ी ही बताती थी। इससे पहले वह कमला नगर और यमुना पार के एक हॉस्पिटल में यह काम करती थी। लिंग परीक्षण में लडक़ी बताने के बाद गर्भपात कहां कराया जाता था। इस रैकेट में और भी लोगों के शामिल होने की संभावना जताई जा रही है।

Share it
Top