Home > Archived > हिंसा किसी भी समस्या का समाधान नहीं: मोदी

हिंसा किसी भी समस्या का समाधान नहीं: मोदी

हिंसा किसी भी समस्या का समाधान नहीं: मोदी

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि कर्नाटक के घटनाक्रम से उन्हें दुख पहुंचा है। उन्होंने कहा कि हिंसा से किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। उन्होंने दोनों राज्यों (कर्नाटक और तमिलनाडु) के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील में कहा है कि कावेरी पानी के बंटवारे पर जिस तरह के हालात कर्नाटक-तमिलनाडु में बने हैं, वो बहुत दुखद हैं। मुझे व्यक्तिगत पीड़ा है। किसी भी समस्या का हल हिंसा के द्वारा नहीं निकाला जा सकता। लोकतंत्र में समाधान संयम और आपसी बातचीत से ही निकलता है। पीएम मोदी ने कहा कि इस विवाद का हल कानून की परिधि में ही संभव है। कानून तोड़ना विकल्प नहीं है। पिछले दो दिन से जिस तरह की हिंसा और आगजनी हो रही है उसमें नुकसान किसी गरीब का ही हो रहा है, हमारे देश की ही संपत्ति का हो रहा है।

उन्होंने कहा कि देश के सामने आई विपरीत परिस्थितियों में, पूरे देश के लोगों की तरह, कर्नाटक और तमिलनाडु के लोगों ने हमेशा पूरी संवेदनशीलता का परिचय दिया है। मेरी कर्नाटक और तमिलनाडु की जनता से अपील है कि संवेदनशीलता दिखाने के साथ ही अपने नागरिक कर्तव्यों को भी याद रखें। मुझे भरोसा है कि आप राष्ट्रहित और राष्ट्रनिर्माण को सर्वोपरि समझेंगे और हिंसा, तोड़फोड़-आगजनी के बजाय संयम, सद्भावना और समाधान को प्राथमिकता देंगे।

कावेरी जल विवाद को लेकर कर्नाटक में पुलिस गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हुआ। इस विवाद से कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच तनाव बढता जा रहा है और हिंसा हो रही है। उच्चतम न्यायालय द्वारा कावेरी नदी के जल को लेकर अपने आदेश में संशोधन के बाद बेंगलुरू तथा कर्नाटक के कुछ हिस्सों में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई जबकि तमिलनाडु में भी कई जगह गडबडी पैदा की गयी।

बेंगलुरू में हिंसा को देखते हुए देर रात 16 थानों में कर्फ्यू लगा दिया गया। पुलिस ने कहा कि राजगोपाल नगर, कामाक्षिपाल्या, विजयनगर, बायतारायानपुरा केंगरी, मागड़ी रोड, राजाजीनगर, आरआर नगर, केपी अग्रहारा चंद्र लेआउट, यशवनथापुरा, महालक्ष्मी लेआउट, पीन्या, आरएमसी यार्ड, नंदिनी लेआउट और ज्ञानभारती क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है।

Share it
Top