Top
Latest News
Home > Archived > त्योहारी मांग से बढ़ी सोने, चांदी की चमक

त्योहारी मांग से बढ़ी सोने, चांदी की चमक

त्योहारी मांग से बढ़ी सोने, चांदी की चमक

त्योहारी मांग से बढ़ी सोने, चांदी की चमक


नई दिल्ली| घरेलू हाजिर बाजार में फुटकर विक्रेताओं की त्योहारी सत्र की मांग को पूरा करने के लिए आभूषण विक्रेताओं की लिवाली बढ़ने से बीते सप्ताह राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में सोने की कीमत 31,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर को फिर से हासिल करती हुई 31,075 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर जा पहुंची।

इसी तरह से औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं का उठान बढ़ने के कारण चांदी की कीमत भी 200 रुपये की तेजी के साथ 46,500 रुपये प्रति किग्रा हो गई।

सर्राफा व्यापारियों ने कहा कि घरेलू हाजिर बाजार में त्योहारी मांग को पूरा करने के लिए आभूषण विक्रेताओं की लिवाली बढ़ने के कारण बहुमूल्य धातुओं की कीमतों में तेजी आई।

वैश्विक स्तर पर न्यूयार्क में उतार चढ़ाव भरे कारोबार के बाद सोना कमजोरी दर्शाता 1,335.70 रुपये प्रति डालर प्रति औंस पर बंद हुआ जबकि एक समय यह 1,356.60 डॉलर प्रति औंस की उंचाई को छू गया था।

राष्ट्रीय राजधानी में कमजोर मांग के कारण 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने की कीमत की 30,900 रपये और 30,750 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कमजोर शुरुआत हुई।

बाद में फुटकर विक्रेताओं की त्योहारी मांग को पूरा करने के लिए आभूषण विक्रेताओं की लिवाली में आई तेजी और मजबूत वैश्विक संकेतों से इनकी कीमतें 31,280 रुपये और 31,130 रुपये प्रति 10 ग्राम की उंचाई को छू गईं और अंत में 145 . 145 रुपये की तेजी प्रदर्शित करता हुआ क्रमश: 31,075 रुपये और 30,925 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। गिन्नी के भाव भी 100 रुपये की तेजी प्रदर्शित करते 23,300 रुपये प्रति आठ ग्राम पर बंद हुए।

इसी प्रकार लिवाली और बिकवाली के झोकों के बीच उतार चढ़ाव भरे कारोबार में चांदी तैयार के भाव सप्ताहांत में 200 रुपये की तेजी के साथ 46,500 रुपये प्रति किग्रा पर बंद हुए, जबकि चांदी साप्ताहिक डिलीवरी के भाव 100 रुपये की गिरावट प्रदर्शित करते 46,125 रुपये प्रति किग्रा पर बंद हुए।

हालांकि सीमित सौदों के बीच चांदी सिक्कों के भाव लिवाल 75,000 रुपये और बिकवाल 76,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर स्थिरता का रख लिए बंद हुए।

Next Story
Share it
Top