Home > Archived > तीन रुपए किलो वाली प्याज बिक रही है बीस रुपए किलो

तीन रुपए किलो वाली प्याज बिक रही है बीस रुपए किलो

तीन रुपए किलो वाली प्याज  बिक रही है बीस रुपए किलो

तीन रुपए किलो वाली प्याज बिक रही है बीस रुपए किलो

ग्वालियर। प्याज कभी किसान को तो कभी आम आदमी को रुलाती रही है। वर्तमान में प्याज के दाम शीर्ष से अर्स पर आ गए हैं। थोक मंडियों में यह 3 से 6 रुपए किलो के भाव से बिक रही है, वहीं कॉलोनियों में ठेलों पर यही प्याज 15 से 20 रुपए किलो के भाव में बेची जा रही है। प्याज के बेहद सस्ता होने के कारण किसानों को इसके भरपूर दाम नहीं मिल पा रहे हैं। किसानों की मानसिकता यह हो गई है कि वह प्याज को सस्ते में बेचने की अपेक्षा सड़कों और मण्डियों में फेंक रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि प्याज का अत्यधिक उत्पादन होने और किसानों को मनमाफिक भाव नहीं मिलने के कारण विगत दिवस इंदौर में किसानों ने हजारों किलो प्याज सड़क पर फैंक दी थी। इंदौर में थोक प्याज का भाव एक से दो रुपए किलो है। प्याज के दाम कम होने के कारण इसे बेचने पर किसानों के हाथ कुछ नहीं लग रहा है। वहीं पिछले वर्ष प्याज ग्वालियर सहित पूरे देश में 80 से 100 रुपए किलो के भाव पर भी बिक चुकी है। प्याज में अच्छा लाभ कमाने के लालच से किसानों ने इस वर्ष जमकर पैदावार की जिसका परिणाम यह हुआ कि उत्पादन अधिक होने के कारण इसके दाम जमीन पर आ गए।

थोक में प्याज तीन रुपए किलो:- शहर की लक्ष्मीगंज थोक मण्डी में सामान्य प्याज तीन रुपए और अच्छी प्याज पांच से छह रुपए किलो के भाव से बिक रही है। मण्डी में प्रतिदिन खण्डवा और महाराष्ट्र से सात से आठ गाडिय़ों की आवक हो रही है।

किसानों को घरों में भंडारण करने की सलाह

उधर विशेषज्ञों ने किसानों को सलाह दी है कि वे इस प्याज को अपने घरों में संग्रहित करके रखें। सरकार का कहना है कि किसान प्याज की बिक्री बारिश के समय में कर सकते हैं, जिससे उनको प्याज के अच्छे दाम मिल सकते हैं।

मण्डी में प्याज के भाव
शहर का नाम भाव
ग्वालियर 3 से 5
अशोक नगर 3 से 4
विदिशा 1 से 3
सीहोर 1 से 6
शिवपुरी 3 से 8

इन्होंने कहा

'प्याज का बंपर उत्पादन होने के कारण इसके भाव कम हो गए हैं। मण्डी में प्याज का थोक भाव तीन से पांच रुपए किलो है। आने वाले समय में प्याज के दामों में तेजी आने की संभावना कम है।'

रामजीत सिंह
थोक कारोबारी

Share it
Top