Home > Archived > तवांग में बांध विरोधी कार्यकर्ताओं पर पुलिस की गोलीबारी, 2 की मौत

तवांग में बांध विरोधी कार्यकर्ताओं पर पुलिस की गोलीबारी, 2 की मौत

तवांग में बांध विरोधी कार्यकर्ताओं पर पुलिस की गोलीबारी, 2 की मौत

इटानगर। अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में एक भिक्षुक को रिहा कराने की मांग को लेकर बांध विरोधी कार्यकर्ताओं ने बीते कल सोमवार को जब एक थाने में घुसने की कोशिश की तो पुलिसकर्मियों को गोली चलानी पड़ी, जिसमें कम से कम दो कार्यकर्ताओं की मौत हो गई और आठ अन्य जख्मी हो गए।

पुलिस महानिरीक्षक नबिन पायेंग ने कहा कि पुलिस को तब गोली चलानी पड़ी जब कार्यकर्ताओं ने थाने में घुसने की कोशिश की। वे भिक्षुक लामा लाबसंग गायत्सो को रिहा करने की मांग कर रहे थे जो एक समूह का प्रमुख है जो सीमावर्ती जिले में पनबिजली परियोजनाओं का विरोध कर रहा है। पायेंग ने कहा कि सेना ने तवांग जिले में स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए फ्लैग मार्च किया जबकि आपराधिक दंड संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है।

अनौपचारिक सूत्रों के अनुसार गोलीबारी में एक महिला सहित तीन व्यक्तियों की मौत हुई है। मृतकों की शिनाख्त टेंपा और निमा वांगदी के तौर पर हुई है। लामा लाबसंग को बीते 28 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। उसके खिलाफ शिकायत थी कि उसने एक ऑडियो क्लिप में मोन क्षेत्र के आध्यात्मिक प्रमुख वांग मठ के एबट गुरू तुल्कू रिनपोछे की नागरिकता पर सवाल उठा कर उनका अपमान किया है।

लाबसंग ने क्लिप में कहा है कि मठ को एबट तवांग की पनबिजली की राजनीति नहीं पड़ना चाहिए क्योंकि वह क्षेत्र के कल्याण के बारे में चिंतित नहीं है। एक औपचारिक विज्ञप्ति में यहां कहा गया है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजीजू ने मुख्यमंत्री कालिखो पुल के साथ ही डीसी और जिले के एसपी के साथ स्थिति पर चर्चा की है। मंत्री ने जिले में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए वार्ता करने को एक उच्च स्तरीय शांति समिति बनाने का सुझाव दिया जिसमें समाज के सभी तबके के प्रतिनिधि शामिल हों। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि लेागों की शिकायतों के निवारण के लिए सरकार सभी तरह के कदम उठाएगी।

Share it
Top