Top
Latest News
Home > Archived > तनाव की स्थिति में क्यों अलग-अलग होती है मनोदशा

तनाव की स्थिति में क्यों अलग-अलग होती है मनोदशा

तनाव की स्थिति में क्यों अलग-अलग होती है मनोदशा

तनाव की स्थिति में क्यों अलग-अलग होती है मनोदशा


क्या आपने कभी सोचा है कि एक समान तनावपूर्ण स्थितियों से प्रत्येक व्यक्ति अलग-अलग भावनाएं क्यूं महसूस करता है।नियमित तौर पर होने वाले तनाव को लेकर कुछ व्यक्ति बिलकुल शांत रहते हैं, तो वहीं कुछ व्यक्ति निराशा का शिकार होकर आत्महत्या जैसे विचार मन में ले आते हैं। वैज्ञानिकों ने इसके पीछे मस्तिष्क की संरचना को जिम्मेदार बताया है।शोधकताओं ने तनाव प्रेरित अवसाद में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली मस्तिष्क क्षेत्रों की एक सूची की भी पहचान की है....


इस शोध के लिए चूहों पर परीक्षण किया गया था। इस दौरान चूहों के एक समूह में दूसरे समूह के चूहों के शांत व्यवहार से उलट असहाय और भिन्न मस्तिष्क गतिविधियां पाई गईं।

अध्ययनकर्ताओं ने देखा कि तनाव और दहशत भरी शारीरिक प्रतिक्रियाओं में अहम भूमिका निभाने वाला मस्तिष्क का एक भाग लोकस इरुल्यूयस इस समूह के चूहों में अधिक असहाय प्रतीत हुआ। जो कि तनाव प्रेरित अवसाद में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है।

इसके अलावा जिन चूहों ने असहाय व्यवहार का प्रदर्शन किया था, उनमें समग्र मस्तिष्क गतिविधियां काफी निचले स्तर पर थीं। खासकर भावना और प्रेरणा जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों के प्रसंस्करण में यह गतिविधिय काफी कमजोर पाईं गईं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि इस अध्ययन के निष्कर्ष अवसाद की चिकित्सा के नए उपायों की पहचान करने में मदद करेंगे।

Next Story
Share it
Top