Top
Latest News
Home > Archived > ढाई सैकड़ा पर्यटकों ने किया संग्रहालय का नि:शुल्क भ्रमण

ढाई सैकड़ा पर्यटकों ने किया संग्रहालय का नि:शुल्क भ्रमण

विश्व संग्रहालय दिवस पर किले पर हुए आयोजन

ग्वालियर। विश्व संग्रहालय दिवस के मौके पर बुधवार को किला स्थित संग्रहालय को देशी-विदेशी पर्यटकों के लिए पूरी तरह नि:शुल्क किया गया था। आज लगभग 250 देशी व विदेशी पर्यटकों ने संग्रहालय का नि:शुल्क भ्रमण किया और उसके इतिहास के बारे में विस्तार से जाना। सुबह नौ बजे से शुरू हुए कार्यक्रम में तेज धूप होने के बाद भी पर्यटकों की संख्या कम नहीं थी। इस अवसर पर पर्यटकों के लिए अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गईं।

संग्रहालय में 17वीं शताब्दी की प्रतिमाओं का संग्रह
आपको बता दें कि किला स्थित संग्रहालय में 17वीं शताब्दी की दुर्लभ प्रतिमाओं का संग्रह है। यहां पर रजत के आभुषण, ताम्र अंगूठी, चूडिय़ां, सुरमा लगाने की सलाईयां, पकी मिट्टी से बनी मूर्तियां, लोहे का बका, मुहर की छाप, अभिलेख, मूर्तियां सहित अन्य शामिल हैं। यह सभी दुर्लभ वस्तुएं ग्वालियर के समृद्ध इतिहास की कहानी बताती हैं। किले पर पुरा सम्पदाओं का खजाना भरा पड़ा है।

संग्रहालय की उम्र हुई 23 साल
यह संग्रहालय आमजन के लिए 2 अक्टूबर 1993 को खोला गया था। इससे पहले यह भवन ब्रिटिश शासनकाल के दौरान अस्पताल और जेल के रूप में संचालित होता था। यहां जितनी भी प्राचीन प्रतिमाएं हैं, वे अमरोल, खेराल, नरेसर, बटेश्वर, मितावली, पढ़ावली, सिहोनियां, तेरही और सुरवाया से प्राप्त हुई हैं। 17वीं शताब्दी की ये सभी प्रतिमाएं कला, वैभव और तकनीकी का जीता-जागता उदाहरण है। कुतवार (मुरैना) से उत्खनन से प्राप्त पुरासम्पदा का संग्रह भी इस संग्रहालय में मौजूद है, जिनकी तिथि 11वीं से 9वीं शताब्दी के बीच की है।

Next Story
Share it
Top