Home > Archived > लोकतंत्र बहाली दिवस 22 को

लोकतंत्र बहाली दिवस 22 को

केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर आएंगे

ग्वालियर। 21 मार्च 1977 को आपातकाल समाप्ति के बाद लोकतंत्र बहाली होने के उपलक्ष्य में मीसा बंदियों के संगठन लोकतंत्र सेनानी संघ द्वारा 21 एवं 22 मार्च को लोकतंत्र बहाली दिवस मनाया जाता है। इसी क्रम में आगामी 22 मार्च को भी लोकतंत्र बहाली दिवस मनाया जाएगा जिसमें केन्द्रीय खान एवं इस्पात मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि 26 जून 1975 को देश में आपातकाल लगाया जाकर राजनैतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को मीसा और डी आई आर में निरुद्ध कर जेलों में डाल दिया गया था। जनता के प्रबल विरोध के बाद विवश होकर 21 मार्च 1977 को आपातकाल हटाया गया था। इसी उपलक्ष्य में मीसा बंदियों के संगठन द्वारा 22 मार्च को लोकतंत्र बहाली दिवस के रूप में मनाया जाता है।

संगठन के प्रदेश सचिव तथा संभाग प्रमुख मदन बाथम ने बताया कि मंगलवार 22 मार्च को प्रात: 11 बजे चेम्बर ऑफ कॉमर्स भवन में लोकतंत्र बहाली दिवस का आयोजन किया गया है, जिसमें ग्वालियर और चंबल दोनों संभागों के मीसा बंदी शामिल होंगे। मुख्य अतिथि के रूप में केन्द्रीय इस्पात एवं खनन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं विशेष अतिथि के रूप में संगठन के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष संतोष शर्मा व खनिज विकास निगम के चेयरमेन शिव चौबे उपस्थित रहेंगे। उन्होंने बताया कि आयोजन की तैयारियों को गुरूवार को संगठन के पदाधिकारियों की बैठक में अंतिम रूप दिया गया। सर के पी सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मोहन विटवेकर, गुलशन गोगिया, राधामोहन, मदन बाथम, ज्ञान प्रकाश गर्ग, पुनीत सक्सेना, शांति बाबा, जयंत पाल खुराना आदि उपस्थित रहे।

Share it
Top