Home > Archived > होली के लिए शराब कारोबारियों ने किया स्टॉक

होली के लिए शराब कारोबारियों ने किया स्टॉक

करोड़ों की शराब गटक जाएंगे सुराप्रेमी, मिलावटी शराब की बिक्री पर लगेगी रोक

ग्वालियर। होली पर शहर के सुराप्रेमी लगभग पांच करोड़ की शराब का सेवन करेंगे। इसके लिए शराब कारोबारियों ने अभी से स्टॉक करना शुरु कर दिया है। ताकि ड्राय डे वाले दिन उन्हें परेशानी ना हो। हालांकि आबकारी विभाग ने भी त्यौहार पर अवैध शराब की बिक्री रोकने के लिए टीम गठित कर ली है। विभागीय सूत्र बताते हैं कि इस बार कहीं भी अवैध शराब की बिक्री मिली तो उसे छोड़ा नहीं जाएगा। इसके लिए उन स्थानों को चिन्हित किया जा रहा है। जहां का रिकार्ड हमेशा खराब रहा है।

सूत्र बताते हैं कि होली नजदीक आते ही शहर से लगे मुरैना और धौलपुर के अवैध शराब के तस्करों द्वारा बड़े पैमाने पर शराब स्टोर की जा रही है। दूसरे प्रान्त की यह अंग्रेजी व देशी शराब होली त्यौहार में पूरी तरह से जहर घोलने की तैयारी में है। सूत्रों द्वारा यहां तक बताया जा रहा है कि आबकारी विभाग के कुछ कर्मचारियों की संलिप्तता भी तस्करों से है। लेकिन इसकी पृष्टि विभाग का कोई अधिकारी नहीं करता।

घाटीगांव और मोहना में गढ़
सूत्रों की माने तो घाटीगांव और मोहना अवैध शराब का पूरी तरह से गढ़ बन चुका है। यहां पर एक तस्कर द्वारा राजस्थान और हिमाचल प्रदेश की शराब जुटाई जा रही है। इतना ही नही दूसरे प्रान्त की इस शराब को नए तरीके से तैयार कर बोतलों में पैक किया जा रहा है। जिसमे हॉट कैमिकल का भी प्रयोग किया जा रहा है।

मिलावटी शराब की बिक्री
अवैध शराब माफियाओं द्वारा ज्यादा मुनाफा कमाने के फेर में शराब में मिलावट की जा रही है। केमिकल युक्त यह शराब होली त्यौहार पर ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा बिक्री की जाती है। सस्ते दामों के चलते ऐसी शराब की खपत भी ज्यादा है।

इन्होंने कहा
होली पर हम अवैध शराब की बिक्री पर रोक लगाने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में आबकारी पुलिस छापामार कार्रवाही भी करेगी।

अजय शर्मा
सहायक आबकारी आयुक्त

Share it
Top