Home > Archived > रजिस्ट्रार ने रद्द की बार संघ की निर्वाचित कमेटी

रजिस्ट्रार ने रद्द की बार संघ की निर्वाचित कमेटी

उरई(जालौन)। आज जिला एवं तहसील मुख्यालय पर संपन्न हुई मासिक राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 21249 मुकदमों का निस्तारण किया गया। इसमें 749 लघु आपराधिक वादों का निस्तारण करते हुए 100820 रुपए अर्थदंड धनराशि अभियुक्तों से जमा कराई गई। मोटर वाहन दुर्घटना के दो दावों में पीडि़त याचीगण को विपक्ष बीमा कंपनी से 1235500 रुपए क्षतिपूर्ति दिलाई गई। इस बार 23000 वादकारी लाभान्वित हुए।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए प्रभारी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पीयूष तिवारी ने बताया कि आज संपन्न हुई लोक अदालत में प्रभारी जिला जज नंदलाल ने छह मुकदमों का निस्तारण किया। उन्होंने मोटर वाहन दुर्घटना की चार याचिकाओं में सुलह-समझौता कराते हुए विपक्षी बीमा कंपनी से पीडि़त याचीगण को 990000 रुपए धनराशि क्षतिपूर्ति के रूप में दिलाए। कुटुंब न्यायाधीश रामअचल यादव ने भरण-पोषण अधिनियम के 23 प्रकरण समेत कुल 37 पारिवारिक विवादों का निस्तारण किया। इसी प्रकार विशेष न्यायाधीश श्रीनाथ सिंह ने चार मामलों का निस्तारण करते हुए एक एमएसीपी में विपक्षी बीमा कंपनी से पीडि़त याचीगण को 245000 धनराशि प्रतिकर के रूप में दिलाई। अपर जिला जज संजय कुमार सिंह ने विद्युत अधिनियम के पच्चीस वादों का निस्तारण किया। अपर जिला जज विवेकानंद शरण त्रिपाठी ने उत्तराधिकार अधि. के सात और एफटीसी जज शिवदान यादव ने दो व्यवहार वादों का निस्तारण किया। प्रभारी सचिव/सीजेएम पीयूष तिवारी ने 312 आपराधिक प्रकरण में 29950 रुपए अर्थदंड राजकीय कोष में जमा कराया। इसी क्रम में न्यायिक मजिस्ट्रेट जालौन विवेक कुमार सिंह ने पैंतीस आपराधिक प्रकरण में 21530 रुपए जेएम कोंच राजीव कुमार सिंह ने बारह आपराधिक प्रकरण में 1050 रुपए अर्थदंड धनराशि अभियुक्तों से राजकीय कोष में जमा कराई और अपर सिविल जज जूडि कोंच विजय कुमार कटियार ने अ_ारह आपराधिक प्रकरणों का निस्तारण करते हुए 13950 रुपए अर्थदंड अभियुक्तों पर अधिरोपित किया। विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट जगमोहन सिंह ने 53 आपराधिक प्रकरणों का निस्तारण करते हुए 8040 रुपए अर्थदंड अभियुक्तों पर अधिरोपित किया।

न्यायिक मजिस्ट्रेट कालपी निशांत मान ने 47 मामलों का निस्तारण किया और दस हजार रुपए अर्थदंड जमा कराया। सिविल जज जूडि उरई विवेक विक्रम ने 109 आपराधिक प्रकरणों में 6300 रुपए अर्थदंड अधिरोपित किया। वहीं अपर सिविल जज जूडि पियूष वर्मा ने पांच वादों का निस्तारण किया। प्रभारी सचिव श्री तिवारी ने बताया कि जनपद के अपर जिला मजिस्ट्रेट आनंद कुमार ने जमींदारी विनाश एवं भूमि व्यवस्था अधिनियम के दो मामलों का निस्तारण करते हुए आठ हजार रुपए राजकोष में जमा कराया। इस अधिनियम के अंतर्गत विभिन्न उप जिलाधिकारियों ने 44 लंबित वादों का निस्तारण किया। वहीं धारा 107/116 सीआरपीसी के अंतर्गत जनपद की विभिन्न मजिस्ट्रेट न्यायालयों में विचाराधीन वादों में से 167 प्रकरणों का भी निस्तारण उप जिला मजिस्ट्रेट न्यायालयों द्वारा किया गया। विभिन्न राजस्व न्यायालयों द्वारा भू राजस्व अधिनियम के 97 वादों में सुलह-समझौता कराया गया। विभिन्न नगर पालिकाओं टाउन एरिया चालानी पुलिस एवं परिवहन विभाग की चालानी समेत अन्य प्रकृति के कुल 17233 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। आज संपन्न लोक अदालत में बीमा कंपनी के वरिष्ठ अधिवक्ता संजय कुमार अग्रवाल का विशेष योगदान रहा। उनके साथ अशोक वाश्नेय आशुतोष चतुर्वेदी हरिहर शंकर श्रीवास्तव समेत कई अन्य अधिवक्तागण और वादकारीगण उपस्थित रहे।

Share it
Top