Latest News
Home > Archived > लखनऊ तक लड़ी जाएगी दलित हत्याकांड की लड़ाई

लखनऊ तक लड़ी जाएगी दलित हत्याकांड की लड़ाई

दलित गर्जना न्याय मोर्चा के बैनर तले हजारों गौभक्तों की सहभागिता

स्वदेश समाचार/आगरा। विश्व हिन्दू परिषद के महानगर उपाध्यक्ष अरुण माहौर की हत्या पर शासन-प्रशासन की मौन शांति पर शहर के हिन्दूवादी संगठनों में जबर्दस्त आक्रोश है। हिन्दूवादी संगठनों द्वारा गौभक्त व दलित समाज के व्यक्ति की हत्या को लेकर आगामी 18 मार्च को जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव होगा। इस सम्बंध में गुरुवार को दलित गर्जना न्याय मोर्चा के बैनर तले मदिया कटरा स्थित होटल वैभव पैलेस में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया।

पत्रकार वार्ता की अध्यक्षता कर रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ब्रज प्रांत संपर्क प्रमुख अशोक कुलश्रेष्ठ ने कहा कि यह आंदोलन गौ और महिलाओं की सुरक्षा के लिए हो रहा है। उन्होंने बताया कि विभिन्न थानों में चार सौ से अधिक मुकदमें गौकशी को लेकर दर्ज है लेकिन, पुलिस ने अभी तक चार्जशीट भी दाखिल नहीं की सकी है। गौकशी के अड्डे बंद कराने व अरुण माहौर के हत्यारों पर कड़ी कार्रवाही के लिए यह शांतिपूर्ण आंदोलन है।

सुभाष पार्क पर एकत्रित होंगे कार्यकर्ता
भाजपा के वरिष्ठ नेता नवीन जैन ने बताया कि समूचे आगरा महानगर के सभी मंडलों में वृहद बैठकें आयोजित कर आंदोलन को सफल बनाने की रणनीति तैयारी की जा रही है। कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दे दी गई है। मौहल्लों व प्रमुख स्थानों से मैटाडोर व अन्य वाहनों से झण्डों के साथ सुभाष पार्क पर एकत्रित होंगे और जिलाधिकारी कार्यालय के लिए कूच करेंगे। विहिप प्रांतीय उपाध्यक्ष सुनील पाराशर ने कहा कि 18 मार्च को होने वाला महाघेराव अभूतपूर्व होगा। महाघेराव में समस्त हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं की सामूहिक भागीदारी रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन के लापरवाह रुख का महाघेराव कर करारा जबाब दिया जाएगा। दलित गर्जना न्याय मोर्चा के संयोजक अशोक कोटिया ने बताया कि एक दलित के न्याय की लड़ाई आगरा से लखनऊ तक लड़ी जाएगी। उन्होंने बताया कि उस दिन दलित समाज भी आगरा के प्रशासन को अपनी ताकत का अहसास कराएगा।
पत्रकार वार्ता में जानकारी दी गई कि महाघेराव में हिन्दू संगठनों के अलावा गौ संरक्षण से जुड़ी संस्थाओं, कार्यकर्ताओं व जिले भर की गौशालाओं के पदाधिकारी व संरक्षणगण भी हिस्सा लेंगे।
महाघेराव का उद्देश्य
दलित गर्जना न्याय मोर्चा के पदाधिकारियों ने बताया कि अरुण माहौर की हत्या के षडयंत्रकारियों पर कार्रवाही, परिजनों को 50 लाख का मुआवजा, कार्यकर्ताओं पर लगे झूठे मुकदमों की वापसी, गौ हत्याओं पर लंबित मुकदर्मा पर कार्रवाही व जिले में संचालित गौवध के अड्डों को बंद कराना महाघेराव का उद्देश्य है।
इनकी रही उपस्थिति
पत्रकार वार्ता में भाजपा के जिलाध्यक्ष अशोक राना, भाजपा महानगर मंत्री अनिल चौधरी, विहिप के प्रमेंद्र जैन, कमल वाल्मिक, विजय माहौर, भाजपा के दीपक खरे, महानगर संपर्क प्रमुख सीए प्रमोद चौहान, शरद चौहान व भाजपा मीडिया समन्वयक सुमित उपाध्याय उपस्थित रहे।

Share it
Top