Home > Archived > तीन कम्पनियों ने प्रदेश में निवेश पर की चर्चा

तीन कम्पनियों ने प्रदेश में निवेश पर की चर्चा

युवाओं में कौशल विकास के लिए सरकार प्रतिबद्ध: चौहान

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज यहाँ मंत्रालय में तीन कंपनियों ने प्रदेश में निवेश पर चर्चा की। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री प्रतिमाह प्रथम सोमवार को निवेशकों से चर्चा कर निवेश संबंधी बाधाओं का तत्काल समाधान भी करते हैं। लगभग 5000 करोड़ के वार्षिक टर्न ओवर वाली मेसर्स हरिकृष्णा एक्सपोर्ट मुम्बई के हीरे की कटिंग, पॉलिशिंग और आभूषण निर्माण में भविष्य के लिये कौशल संपन्न मानव संसाधन तैयार करने के लिये डायमंड इंस्टीटयूट शुरू करने का प्रस्ताव दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार युवाओं में कौशल विकास के लिये प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कौशल विकास के अलावा हीरा कटिंग में भी निवेश का स्वागत है। कंपनी के अध्यक्ष शावजी डोलकिया ने मुख्यमंत्री को गीता की विशेष रूप से संस्कृत, हिन्दी और अंग्रेजी भाषाओं में तैयार की गई प्रति भेंट की।
मेसर्स डीजिप्रो सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड नई दिल्ली ने रक्षा उत्पाद निर्माण में निवेश के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री से चर्चा की। कंपनी के अध्यक्ष दीपक गुप्ता ने मुख्यमंत्री को बताया कि कंपनी मध्यप्रदेश में 10 सीटों वाला एयरक्राफ्ट निर्माण और रक्षा आयुध वाहनियों के संधारण की इकाई लगाना चाहती है। कंपनी के अध्यक्ष ने रक्षा निर्माण उद्योग में निवेश की आकर्षक नीति बनाने के लिये मुख्यमंत्री की दूरदष्टि की सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में सरकार नये निवेश का स्वागत करती है और निवेशकों को पूरा सहयोग मिलेगा।
मेसर्स हिन्दुस्तान कोलकाता बीवरेज पीलूखेड़ी (राजगढ़) के उपाध्यक्ष आशुतोष सिंह ने मुख्यमंत्री को बताया कि बैतूल में किसानों के हित में सामाजिक जिम्मेदारी निभाते हुए 2000 हेक्टेयर में सतत खेती पर काम किया जा रहा है। इससे 5200 परिवार को लाभ मिलेगा। यह कंपनी पहले साल 600 करोड़ का निवेश करने की इच्छुक है। उन्होंने बताया कि सरकार से हर स्तर पर सहयोग मिल रहा है। बैठक में उद्योग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, मुख्य सचिव अंटोनी डिसा, प्रमुख सचिव उद्योग मोहम्मद सुलेमान, मुख्यमंत्री के सचिव विवेक अग्रवाल एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Share it
Top