Home > Archived > तहसील भवन की टूटीं हुई हैं खिड़कियां

तहसील भवन की टूटीं हुई हैं खिड़कियां

मरम्मत न होने से बढ़ रहीं वारदात की आशंकाएं
तहसीलदार ने कहा नहीं मिलती शासन से राशि

मुंगावली। जहां एक ओर प्रशासन जगह-जगह भवन निर्माण कार्य करा रहा है वहीं यदि तहसील बिल्डिंग की बात कि जाये तो इसकी पीछे की ओर लगी अधिकांश खिडकियां क्षतिग्रस्त होकर टूट गई हैं। जिससे कभी भी कोई भी अप्रिय घटना होने का अंदेशा बना रहता है। इस ओर अधिकारियों द्वारा कोई ध्यान नही दिया जा रहा है। जब इस सबंध में तहसीलदार पीएस रूगर ने बताया कि हमें कोई राशि शासन से नही मिलती जिससे कि हम इनको सुधरवा सकें। वहीं लोक निर्माण विभाग द्वारा बिल्डिंग की ओर कोई ध्यान नही दिया जा रहा है।

पूर्व में हो चुकीं हैंं घटनाएं
यदि देखा जाये तो पूर्व मेंं नगर के कई भवनों में असमाजिक तत्वों द्वारा आगजनी की घटनायें कि गई हैं। जिसमें मिडिल स्कूल, विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय प्रमुख रूप से हैं। फिर भी अधिकारियों द्वारा इससे सीख नही ली जा रही है और तहसील भवन के पीछे कि अधिकांश खिड़कियां टूटी पड़ी है।

न्यायालीन रिकार्ड को भी खतरा
यह टूटी हुईं खिड़कियां सबसे ज्यादा खतरा हैं तो उस न्यायालीन रिकार्ड को जो प्रकरण तहसीलदार कोर्ट में चल रहे हैं। क्योंकि यदि देखा जाये तो समस्त फाइलें इस प्रकार रखी जाती है कि कोई भी सिरफिरा कभी भी इनकों नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिये आवश्यक है कि इन खिड़कियों को अतिशीघ्र सुधरवाया जाये।

इनका कहना है:
यह बिल्डिंग राजस्व विभाग कि है। यदि इनको खिड़कियां सही कराना है तो लिखकर दे दें मैं स्टीमेट बनाकर भेज दूंगा। यदि राजस्व विभाग द्वारा पैसा दिया जायेगा तो मैं इसकी मरम्मत करा दूंगा।
बीएम शर्मा, एसडीओ
लोक निर्माण विभाग मुंगावली

Share it
Top