Home > Archived > करैरा में हिली धरती, घरों से सड़कों पर आए लोग

करैरा में हिली धरती, घरों से सड़कों पर आए लोग

शिवपुरी। करैरा कस्बे में बीती रात्रि पुराना बस स्टेण्ड क्षेत्र में धरती में हुए अचानक कंपन से स्थानीय नागरिक सहम गए और घरों से बाहर निकल कर खुले मैदान में आ गए। देखते ही देखते खबर आग की तरह पूरे कस्बे में फैल गई और वहां सैकड़ों की संख्या में नागरिक एकत्रित हो गए। कहीं भूकंप की चर्चा चली तो कहीं प्रेत आत्माओं के प्रकोप की चर्चाएं भी जनसामान्य हो गईं। लगभग दो घंटे तक चले ड्रामे के बाद ज्ञात हुआ कि उक्त जमीन से निकली आवाजें पेयजल सप्लाई के दौरान पानी डिस्ट्रीब्यूट करने की थी और रात तक सारी चर्चाओं पर विराम लग गया। करैरा एसडीएम संजीव जैन ने इन बातों को अफवाह बताया तो वहीं करैरा टीआई पीपी मुदगल ने उक्त अफवाहों को फैलाने का जिम्मेदार व्हाट्सएप साइड को चलाने वाले स्थानीय नागरिकों को बताया जिससे यह स्थिति निर्मित हुई।


जानकारी के अनुसार रात्रि करीब 11 बजे कस्बे में यह चर्चा सामान्य हो गई कि पुराना बस स्टैण्ड फूटा तालाब के पास डेनिडा रोड़ तिराहे पर धरती से कुछ असमान्य आवाजें आ रहीं है। देखते ही देखते वहां सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद हो गए। इसी बीच किसी ने व्हाट्एप साइड पर यह पोस्ट डाल दी कि करैरा में भूकंप आया है। जिसकी तीव्रता 6.6 मापी गई है। इस पोस्ट के डलते ही कस्बेवासी सहम गए और घरों से बाहर निकल आए।


सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और लोगों को समझाया बाद में ज्ञात हुआ कि उक्त आवाजें जमीन के नीचे नगर पंचायत द्वारा बनवाए गए पानी की टैंक से आ रहीं है। इसके बाद उक्त अफवाहों पर विराम लगा।

इनका कहना है
करैरा में न तो भूकंप के झटके आए हैं और न ही कोई प्रेतात्माओं का प्रकोप है यह सरारती तत्वों की उपज है। जिन्होंने व्हाट्सएप साइड पर यह अफवाह फैलाई है।
संजीव जैन, एसडीएम करैरा

व्हाट्सएप साइड का किस तरह दुरुपयोग किया जा रहा है। इसका जीता जागता उदाहरण रात के समय देखने को मिला जहां एक मामूली सी बात को इतना बढ़ा-चढ़ाकर प्रस्तुत किया जिससे कस्बे की शांति भंग हो गई। जबकि वह आवाजें कस्बे में पानी सप्लाई के दौरान टेंक से आ रहीं थी।
पीपी मुदगल, टीआई करैरा

Share it
Top