Home > Archived > लापरवाह अधिकारियों से सख्ती से निपटेगा प्रशासन

लापरवाह अधिकारियों से सख्ती से निपटेगा प्रशासन

डीएम ने दो को दी प्रतिकूल प्रविष्टि, सात को दी चेतावनी

उरई। जिलाधिकारी रामगणेश ने विकास कार्यो में शिथिलता बरतने वाले दो अधिकारियों को जहंा प्रतिकूल प्रविष्टि दी है।
वहीं सात अधिकारियों को कार्यप्रणाली में सुधार करने की चेतावनी भी दी। जिससे साफ हो गया है कि अब जिला प्रशासन लापरवाह अधिकारियों से सख्ती से निपटने के मूड में है। जिलाधिकारी ने चेतावनी में कहा है कि काम के प्रति अपना रवैया बदलें। अन्यथा लापरवाही महंगी पड़ सकती है।
कैम्प कार्यालय में सम्पन्न समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कई विभागो के अधिकारियों को फटकारा। समीक्षा के दौरान तमाम विभागो की लापरवाही भी सामने आयी। समीक्षा बैठक में विकास व निर्माण कार्यो में बरती जाने वाली लापरवाही भी साफ हो गयी। ऐसी लापरवाही पर जिलाधिकारी ने सख्त रूख अपनाते हुये अधिकारियों को चेतावनी दी। कि अपनी कार्यप्रणाली में सुधार करेंं। बैठक में उपस्थित सीडीओ को निर्देश दिये कि लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड के अधिशासी अभियंता और जिला पंचायती राज अधिकारी को प्रति कूलप्रविष्टि दी जाये। वन विभाग, बिजली, विभाग, नलकूप, बेतवा नहर, जैसे विभाग भी लापरवाही बरत रहे है। लिहाजा इन विभागो के अधिकारियों को भी चेतावनी दी गयी।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कई लापरवाह अधिकारियों को फटकार भी लगायी। उन्होने कहा कि तमाम विकास कार्य अधिकारियों की लापरवाही के चलते प्रभावित हो रहे है। निर्माण कार्य समय पर पूरे नही हो पा रहे है। इस तरह कीलापरवाही कतई बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि बेतवा नहर प्रखण्ड व द्वितीय के अधिशासी अभियंता, नलकूप विभाग प्रथम व द्वितीय के अधिशासी अभियंता, बिजली विभाग के दोनो अधिशासी अभियंता और डीएफओ को चेतावनी जारी कीजाये। अगर सुधार नहीं पाया गया तो अगली बैठक में निलंबन की कार्यवाही की जायेगी।

Share it
Top