Home > Archived > लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रियों का उपचार करेंगे टीटीई, दिया जाएगा विशेष प्रशिक्षण

लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रियों का उपचार करेंगे टीटीई, दिया जाएगा विशेष प्रशिक्षण

लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रियों का उपचार करेंगे टीटीई, दिया जाएगा विशेष प्रशिक्षण

ग्वालियर। राजधानी,दूरंतो शताब्दी एक्सप्रेस समेत लंबी दूरी की ट्रेनों में टीटीई अब बीमार और जख्मी यात्रियों का उपचार करेंगे। इस संबंध में रेल मंत्रालय, रेलवे बोर्ड ने आदेश जारी कर दिया है। रेलवे के अनुसार टीटीई, टीसी को इसके लिए प्रशिक्षण लेना अनिवार्य होगा, वरना उन्हें लंबी दूरी की ट्रेनों में ड्यूटी नहीं दी जाएगी। आपातकलीन स्थिति में यात्रियों को तत्काल उपचार नहीं मिल पाता। इसके लिए ट्रेन के किसी बड़े स्टेशन पहुंचने का इंतजार किया जाता है।

ट्विटर, फेसबुक या भारतीय सुरक्षा हेल्पलाइन नंबर 182 पर ज्यादातर कॉल इसी को लेकर होते हैं। रेलवे ऐसे यात्रियों की मदद भी करती है लेकिन इसके लिए इंतजार करना पड़ता है। अगले माह से शायद उन्हें इसका इंतजार न करना पड़े, रेलवे ने टीटीई को प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण देने की योजना बनाई है। इससे वह आपातकालीन स्थिति में यात्रियों की मदद कर सकेंगे। बताया जा रहा है कि यह योजना प्रत्येक रेल मंडल में लागू की जाएगी।

बीमारी के हिसाब से करेंगे उपचार

रेलवे के अनुसार बीमार यात्रियों का टीटीई जांच कर चिकित्सक से सलाह लेकर उन्हें दवा देंगे, आवश्यकता पडऩे पर इंजेक्शन भी लगाएंगे। जख्मी यात्रियों की मरहम पट्टी भी करेंगे। ट्रेन के सभी कोच में टीटीई का मोबाइल नंबर भी चस्पा रहेगा। ताकि यात्रियों को सूचना देने में आसानी होगी। अक्सर ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों के गंभीर रूप से बीमार होने पर उन्हें समय से उपचार या दवा नहीं मिलने की वजह से मौत हो जाती है। जख्मी यात्रियों की भी समय पर मरहम पट्टी नहीं होने, इंजेक्शन नहीं दिए जाने और दवा नहीं मिलने से मौत हो हो जाती है, इसी को देखते हुए यह व्यवस्था करने का निर्णय लिया गया है।

Share it
Top