Home > Archived > करोड़ों के भवन में जमीन पर जच्चा-बच्चा

करोड़ों के भवन में जमीन पर जच्चा-बच्चा

नए प्रसूतिगृह में अब तक नहीं जुटाई जा सकीं है व्यवस्थाएं

गुना। जिला अस्पताल में करोड़ों की लागत से तैयार किए गए करोड़ों के प्रसूतिगृह में प्राथमिक सुविधाएं तक नहीं जुटाई जा सकीं है। हालत यह है कि प्रसूतिगृह में प्रसूताओं को पलंग तक नसीब नहीं हो रहे है और इस ठंड के मौसम में जच्चा-बच्चा को जमीन पर सोने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इतना ही नहीं, जमीन पर लेटना पड़ रहा है। जमीन पर बिछाने के लिए गद्दा और कंबल अपने साथ लाना पड़ रहा है।
कलेक्टर ने दिखाई थी सख्ती
अस्पताल परिसर में नया प्रसूतिगृह बनाया गया है। लेकिन कुछ कमियों के चलते इसे शुुरु नहीं किया जा रहा था। न तो बिजली का कनेक्शन भवन में हुआ था और न एसी लगे थे। इसी बीच कलेक्टर श्रीमन शुक्ला ने इसको लेकर सख्ती दिखाई तो आनन-पालन में इसे शुरु कर दिया गया, किन्तु प्राथमिक सुविधाएं भी यहाँ नहीं जुटाई गईं है, जिससे प्रसूताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
एक कमरा और 15 पलंग
नए भवन में एक कमरा खोला है जिसमें १५ पलंग है। १५ से अधिक प्रसूता आने के बाद अन्य जच्चा बच्चा को जमीन पर लेटना पड़ रहा है। भरी सर्दी में यह परेशानी को बढ़ा रहा है।

Share it
Top