Home > Archived > क्रोएशिया द्वारा प्रवासियों मुद्दे के बयान पर यूरोप में संकट बढ़ा

क्रोएशिया द्वारा प्रवासियों मुद्दे के बयान पर यूरोप में संकट बढ़ा

जगरेब। यूरोप में बढ़ती शरणार्थियों समस्या को लेकर यूरोपीय संघ (ईयू) में जारी विवाद के बाद अब क्रोएशिया के यह बयान कि वह प्रवासियों को स्वीकार करने के लिए हंगरी को 'बाध्य' करेगा। इससे यूरोपीय देशों में तनाव की स्थिति बढ़ गई है।
जानकारी के अनुसार क्रोएशिया के प्रधानमंत्री ज़ोरान मिलानोविक ने कहा है कि वह प्रवासियों को स्वीकार करने के लिए हंगरी को 'बाध्य' करेगा। इससे हिंसाग्रस्त सीरिया और अन्य देशों से आने वाले प्रवासियों को लेकर यूरोप के कई देशों में तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। क्रोएशिया ने कहा कि करीब 20000 से अधिक शरणार्थी उसकी सीमा में प्रवेश कर चुके है। जिसे क्रोएशिया ने प्रवासियों को बसों में भरकर हंगरी भेजना शुरू कर दिया है। इस पर हंगरी ने आरोप लगाया है कि क्रोएशिया ने प्रवासियों को रजिस्टर नहीं करके अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है। इससे पूर्व हंगरी द्वारा सीमा बंद कर दिए जाने के बाद हिंसाग्रस्त सीरिया और अन्य देशों से आने 20000 से अधिक शरणार्थी क्रोएशिया में घुस आए थे। हंगरी का कहना है कि क्रोएशिया शरणार्थियों के प्रवेश को रोकने में विफल रहा था। इससे लगभग 8000 प्रवासी शुक्रवार को हंगरी पहुंच गए थे। फलतः हंगरी में शरणार्थियों की समस्या विकराल रूप ले लिया था।
जानकारी हो कि यूरोपीय संघ में बढ़ते शरणार्थी संकट से निपटने के तौर-तरीकों पर पहले से ही मतभेद थे। अब क्रोएशिया द्वारा हंगरी को चेतावनी देने से यूरोप में स्थिति और गंभीर हो गई है।

Share it
Top