Home > Archived > लोकतंत्र में सिविल सोसाइटी की भूमिका महत्वपूर्ण : बान की मून

लोकतंत्र में सिविल सोसाइटी की भूमिका महत्वपूर्ण : बान की मून

नई दिल्ली। हर साल 15 सितम्बर को दुनिया के सभी देशों में अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस मनाया जाता है| आगामी अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव बान की मून ने सामाजिक प्रगति एवं आर्थिक वृद्धि के उत्प्रेरक भूमिका के रूप में सिविल सोसायटी की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया है I आगामी अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस के मौके पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने अपने संदेश में कहा है कि सिविल सोसायटी लोकतंत्र की ऑक्सीजन है। वैश्विक स्तर पर जीवंत और स्थिर लोकतांत्रिक व्यस्वथा बनाए रखने के लिए सरकार एवं सिविल सोसायटी को साझा लक्ष्य प्राप्ति के लिए, साथ काम करना होगा। सिविल सोसायटी सामाजिक प्रगति एवं आर्थिक वृद्धि के लिए एक उत्प्रेरक भूमिका निभा सकती हैं। साथ ही यह सरकार की जवाबदेही को बनाए रखने के साथ ही कमजोर वर्ग और विविधतापूर्ण जनसंख्या के हितों का भी प्रतिनिधित्व करता है। इस साल अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस के अवसर पर ‘नागरिक समाज’ पर ध्यान केंद्रित करने पर बल देते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा कि वर्तमान में नागरिक समाज के लिए स्वतंत्रता का माहौल गायब है। नागरिक समाज’ पर फोकस किए जाने से जल्द ही सारी दुनिया की सरकार आपसी सहमति से एक प्रेरणादायक नए विकास के एजेंडे को लागू करने का प्रयास शुरू करेगी।
इस अवसर पर बान की मून ने प्रगति एवं नागरिक भागीदारी को साथ-साथ लेने का आह्वान करते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र सभी के लिए लोकतांत्रिक, बहुलवादी भविष्य की दिशा में काम करने को सदैव तत्पर है और इसके लिए राज्य एवं नागरिक समाज को लोगों के अच्छे भविष्य के निर्माण में समान रूप से भागीदार होना चाहिए।

Share it
Top