Home > Archived > लॉकरों ने उगला लाखों का सोना, सात लाख नकद मिले

लॉकरों ने उगला लाखों का सोना, सात लाख नकद मिले

डॉ. डीएन शर्मा के निवास पर दूसरे दिन भी छापा

भोपाल। संचालक राज्य कृषि विस्तार एवं अनुसंधान संस्थान और पूर्व कृषि संचालक डॉ. डीएन शर्मा के खिलाफ लोकायुक्त संगठन शिकंजा कसता जा रहा है। लगातार दूसरे दिन भी उनके एक और मकान पर छापा मारा गया। विभाग और बैंक प्रबंधन को चि लिखकर कार्रवाई की जानकारी दी गई है।
डॉ. शर्मा के अयोध्या नगर स्थित निवास पर आज लोकायुक्त की विशेष पुलिस स्थापना द्वारा छापा मारा गया। वहीं छापे की कार्रवाई के दौरान मिली संपत्ति और अन्य जानकारियों का ब्योरा लोकायुक्त संगठन ने किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग को चि_ी लिखकर दे दिया है। डॉ. शर्मा पर विभाग द्वारा जल्द ही विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इधर छापे में डॉ. शर्मा और उनके परिजनों के नाम 20 बैंक एकाउंट के दस्तावेज मिले हैं। इन सभी बैंक खातों को सीज कराने के लिए भी लोकायुक्त पुलिस ने बैंक प्रबंधन को लिख दिया है। इसके बाद इन खातों से कोई भी लेन-देन नहीं हो सकेगा।
बीस करोड़ की संपत्ति
शर्मा के दो लॉकरों से करीब एक किलो 300 ग्राम सोना और सात लाख रुपए की नकद राशि बरामद की। लोकायुक्त पुलिस शर्मा के राजधानी भोपाल से बाहर अन्य बैंक खातों का भी पता लगाने में जुटी है। राजधानी के आईसीआईसीआई और सेंट्रल बैंक की शाखा में दो लॉकरों से लोकायुक्त को 1 किलो 300 ग्राम सोना मिला है। जिसमें गोल्ड बिस्कुट और ज्वैलरी शामिल है। लोकायुक्त शर्मा के बेटे की पांच कंपनियों के खातों भी जांच कर रही है। लोकायुक्त टीम के अधिकारी ने बताया कि शर्मा के बेटे की कंपनी में करोड़ों का लेनदेन किया है, लेकिन कंपनी के कारोबार का कोई ठोस आधार नहीं है, जिससे इतनी आय हो सके। लोकायुक्त के अनुसार शर्मा की काली कमाई 20 करोड़ से अधिक होने की उम्मीद है।
भ्रष्टाचारी नहीं बख्शे जायेंगे: मुख्यमंत्री
उधर इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त कार्रवाई करनें के संकेत दिये है। उन्होंने कहा कि कि भ्रष्टाचारी बख्शे नहीं जायेंगे, उनकी संपत्ति राजसात की जायेगी। जनता का पैसा है यह जनता के पास जायेगा। रतलाम जाने से पूर्व पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। भ्रष्टाचार हम किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे। भ्रष्टाचारी को जेल भेजा जायेगा और संपत्ति राजसात कर उसे जनता के उपयोग में लिया जायेगा।

Share it
Top