Home > Archived > अपहरण की रिपोर्ट करने पहुंचा युवक बाद में पलटा

अपहरण की रिपोर्ट करने पहुंचा युवक बाद में पलटा

ग्वालियर। एक किशोर अपने परिजनों के साथ मंगलवार की रात विश्वविद्यालय थाने पहुंचा और बताया कि दिन में कुछ लोग उसे जबरन गाड़ी में डालकर उसका अपहरण करने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन उसने जैसे-तैसे उनके चंगुल से छूटकर अपनी जान बचाई। किन्तु अधिक रात होने पर पुलिस ने सुबह आने को कहा और मामले की जांच कर आरोपियों को पकडऩे का आश्वासन दिया।
बुधवार दोपहर जब वह किशोर पुन: अपने परिजनों के साथ थाने पहुंचा तो पुलिस मामले की हकीकत जानने के लिए घटना स्थल पर किशोर के साथ जा पहुंची। किशोर ने बताया कि शाम करीब साढ़े सात बजे पुलिस अधीक्षक कार्यालय के समीप स्थित फोरच्यून प्लाजा के सामने अपहरण का प्रयास किया गया। जब पुलिस वहां पर जांच-पड़ताल कर रही थी तो देखा कि शोरूम के बाहर कैमरा लगा हुआ है। पुलिस ने जब घटना के समय का फुटेज उस शोरूम के बाहर लगे कैमरे में देखा तो घटना के समय न तो फरियादी था और न ही अपरणकर्ता दिखाई दिए। इसके बाद फरियादी पक्ष ने किसी भी प्रकार का मामला दर्ज कराने से इंकार कर दिया।
वहीं मुरैना निवासी बदन सिंह यादव ने बताया कि उनके भाई का लड़का पुष्पेन्द्र 11वीं का होनहार छात्र है। वह दो दिन से यहीं पर अपने रिश्तेदार के घर पर रह रहा था। मंगलवार शाम को सिटी सेन्टर में कोचिंग पढ़कर वापस लौट रहा था, तभी किसी ने पीछे से उसके मुंह पर रूमाल रखकर बेहोश कर दिया और गाड़ी में डालकर उसे एक सूनसान जगह पर स्थित मकान में बंद कर दिया, लेकिन रात को जब उसे होश आया तो वह वहां से भागकर सीधा स्टेशन पहुंचा और वहां से उसने मुझे फोन पर सूचना दी। जब रात को हम लोग पहुंचे तो वह बेशुध हालत में प्लेटफार्म पर पड़ा हुआ मिला। इसके बाद थाने में शिकायत की, लेकिन पुलिस का कहना है कि घटना स्थल पर लगे कैमरे में इस तरह की कोई घटना कैद ही नहीं हुई है।

Share it
Top