Home > Archived > लक्ष्यपूर्ति के लिए प्रायवेट स्कूलों की ली बैठक

लक्ष्यपूर्ति के लिए प्रायवेट स्कूलों की ली बैठक

52 प्रायवेट विद्यालयों में से मात्र 22 विद्यालय के प्रतिनिधि पहुंचे बैठक में

मुंगावली। स्कूली छात्र-छात्राओं के जाति प्रमाण पत्र के लक्ष्य को प्राप्त करने के उद्देश्य से शुक्रवार को एसडीएम एआर मेशराम द्वारा प्रायवेट विद्यालयों की बैठक बुलाई गई। बैठक में कोई छात्र जाति प्रमाण पत्र से वंचित न रहे इसके लिये आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये कहा कि आज कि स्थिति में हम लक्ष्य से काफी पीछे हैं इसलिये लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये एकजुट होकर कार्य करें और जाति प्रमाण पत्र के फार्म भरकर तुरन्त लोकसेवा केन्द्र में जमा कराये।
निजी विद्यालय नही दिखा रहे रुचि:
जहां एक ओर प्रशासन जाति प्रमाण पत्र की लक्ष्य प्राप्ति के लिये प्रयासरत है। वहीं अशासकीय विद्यालय इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये कितने सजग हैं इसका उदाहरण एसडीएम द्वारा आहूत बैठक से लगाया जा सकता है। जिसमें तहसील क्षेत्र के कुल 52 विद्यालयों में से मुश्किल से 22 विद्यालय के प्रतिनिधि ही उपस्थित रहे। जिसमें से अधिकांश विद्यालय जाति प्रमाण पत्र के फार्म लिये बिना ही बैठक में पहुंचे। जिससे स्पष्ट है कि एसडीएम की यह बैठक बेनतीजा ही रही।
मनमानी के चलते सांैपा आवेदन:
एसडीएम की इस बैठक में नगर परिषद उपाध्यक्ष जलील खां जमींदार, पूर्व जिला योजना समिति सदस्य फारूख खां जमींदार द्वारा एक आवेदन कलेक्टर के नाम देते हुये कहा कि जहां एक ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री गरीब एवं एससी, एसटी बच्चों को 25 प्रतिशत नि:शुल्क प्रवेश देने की योजना चला रहे हैं परन्तु नगर में प्रायवेट विद्यालयों द्वारा इस प्रकार मनमानी की जा रही है कि बच्चों से गणवेश, पुस्तक एवं अन्य योजना के तहत छात्र-छात्राओं से पैसे वसूले जा रहे हैं। जिस कारण कई छात्र-छात्रायें शिक्षा से वंचित रह जा रहे हैं।
इनका कहना है:
जो विद्यालय इस बैठक में उपस्थित नही हुआ है उनको नोटिस देकर पंजीयन समाप्त करने के लिये लिखा जायेगा। वहीं यदि पैसों की वसूली कि जा रही है तो जांच कराकर कार्रवाई कि जायेगी।
एआर मेशराम
एसडीएम मुंगावली

Share it
Top