Home > Archived > कल तोड़ें जाएंगे 40 मकान

कल तोड़ें जाएंगे 40 मकान

विरोध में मुन्नालाल ने किया जल सत्याग्रह, सौंपे ज्ञापन

ग्वालियर। मुरार नदी किनारे बने मकानों में से 40 मकानों की 31 जुलाई शुक्रवार को तोडऩे की कार्रवाई किए जाने के प्रशासन के निर्णय की खबर ने मकान मालिकों को भयग्रस्त कर दिया है। इस मामले की जानकारी मिलते ही बुधवार को कांग्रेस नेता मुन्नालाल गोयल अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे और नदी में बह रहे गंदे पानी में खड़े होकर थोड़ी देर तक जल सत्याग्रह किया। इसके बाद उन्होंने संभागायुक्त एवं नगर निगम आयुक्त को ज्ञापन दिया।
उल्लेखनीय है कि जीएनटी न्यायालय ने मुरार नदी से अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया है। इस निर्देश के पालन में अतिक्रमण हटाने से पहले मकान मालिकों को विस्थापित किया जाएगा। नगर निगम ने केन्द्र सरकार की रे-योजना में लोगों को मकान देने का निर्णय लिया था। इनमें से 40 लोगों ने सिंधिया नगर में मकान के लिए हामी भर दी थी। जिन लोगों ने हामी भरी है, उनके मकानों को शुक्रवार को तोडऩे का निर्णय गया है। लोगों से मकान खाली कराने के लिए नगर निगम प्रशासन ने बुधवार को नोटिस जारी कर दिया है। इसके बाद लोगों ने इसकी जानकारी कांग्रेस नेता मुन्नालाल गोयल को दी।
नदी में किया जलसत्याग्रह
श्री गोयल ने अपने समर्थकों के साथ बुधवार सुबह 10 बजे से 11 बजे तक जलसत्याग्रह किया। बाद में सभी सत्याग्रही संभागायुक्त केके खरे के कार्यालय पहुंचे। उन्होंने संभागायुक्त को अपनी व्यथा सुनाई। श्री खरे ने सत्याग्रहियों से कहा, चंूकि मामला नगर निगम क्षेत्र का है इसलिए निगमायुक्त से बात करें। संभागायुक्त ने यह भी कहा कि इस मामले में अगर उच्च न्यायालय ने कोई फैसला दिया है तो उसका पालन कराया जाएगा। नगर निगम आयुक्त के प्रशासनिक भवन में नहीं होने के कारण उन्होंने दूसरे अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया है कि सिंधिया नगर में जिन मकानों का आवंटन किया जा रहा है, वह अभी तक अधूरे हैं, साथ ही वह काफी महंगे भी हैं।
छह दल बनाए
निगम प्रशासन ने नदी क्षेत्र में अवैध रूप से काबिज लोगों को बेदखल कराने के लिए अलग-अलग छह दल बनाए हैं। इन सभी दलों को बता दिया गया है कि उन्हें 31 जुलाई को कहां पर तैनात रहना है। बताया जाता है कि निगमायुक्त ने तुड़ाई के दौरान पर्याप्त सुरक्षा बल रहे इसके लिए पुलिस अधीक्षक से भी बात की है।

Share it
Top