Home > Archived > अनाथ व आवारा बच्चों को सुधारने के होंगे प्रयास

अनाथ व आवारा बच्चों को सुधारने के होंगे प्रयास

ग्वालियर। रेलवे स्टेशन व सर्कुलेटिंग एरिया में भीख मांगने व नशे की हालत में चोरी आदि करने वाले बच्चों को सुधारने के लिए स्टेशन प्रबंधन द्वारा पहल की गई है। इस पहल को अमली जामा पहनाने केलिए शनिवार को स्थानीय अधिकारियों ने एक बैठक की। जिसमें स्टेशन प्रबंधक , आरपीएफ , जीआरपी के अधिकारियों ने यह निर्णय लिया। बैठक र्में कहा गया कि स्टेशन व परिसर में घूम रहे आवारा व नशा करने वाले बच्चों को अपने पैर पर खड़ा करने व एक अच्छा जीवन देने के लिए उनकी पढ़ा- लिखा होना आवश्यक है। इसलिए स्टेशन परिसर में इन बच्चों को पढ़ाने की व्यवस्था होनी चाहिए। इसके लिए इन्हें नशा मुक्ति केन्द्र व अन्य सुधार गृहों पर पहुंचाया जाएगा। इसके लिए स्टेशन परिसर पर एक रूम की व्यवस्था की जाएगी। सूत्रों का कहना है कि हालही में इस मामले में चाइल्ड लाइन अधिकारी, कलेक्टर व रेलवे अधिकारी झांसी मंडल से सहमति प्राप्त कर चुके हैं।चाइल्ड लाइन कर्मचारी करेंगे देखरेखबच्चों की देखरेख के लिए योजनानुसार चाइल्ड लाइन कर्मचारी को तैनात किया जायेगा। साथ ही जीआरपी-आरपीएफ जवान स्टेशन परिसर में घूमने वाले बच्चों को रात या दिन में पकड़ कर लाएंगे। इसके बाद उन बच्चों को सुधार हेतु चाइल्ड लाइन के सेंटर भी पहुंचाया जायेगा।चाइल्ड लाइन को बच्चे सौंपने के लिए बैठक बुलाई गई थी। अब नशेड़ी व आवारा बच्चों को वहां सुधार के लिए पहुंचाया जायेगा। बैठक में निर्णय लिया गया है कि बच्चों को ठहराने के लिए एक रूम का निमार्ण भी स्टेशन परिसर में करवाया जाएगा।टीके अग्निहोत्रीआरपीएफ प्रभारी

Share it
Top