Home > Archived > अफजल पर पीडीपी विधायकों के सुर में बोले कांग्रेस नेता मणि‍शंकर अय्यर

अफजल पर पीडीपी विधायकों के सुर में बोले कांग्रेस नेता मणि‍शंकर अय्यर

अफजल पर पीडीपी विधायकों के सुर में बोले कांग्रेस नेता मणि‍शंकर अय्यर


पीडीपी के विधायकों ने जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के साथ सरकार गठन के दूसरे ही दिन केंद्र सरकार से आतंकवादी और संसद हमले के साजिशकर्ता अफजल गुरु के शव के अवशेष मांग करके तूफान खड़ा कर दिया था। लेकिन, इसके एक दिन बाद कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद मणिशंकर अय्यर ने पीडीपी विधायकों की मांग का समर्थन करके सियासत को गर्मा दिया है। मंगलवार को संसद भवन पहुंचे मणिशंकर अय्यर ने कहा कि अफजल के साथ नाइंसाफी हुई थी। संसद भवन के बाहर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि अफजल गुरु के खि‍लाफ पर्याप्त सबूत नहीं थे और उनका ऐसा मानना है कि अफजल के साथ नाइंसाफी हुई थी। उन्होंने कहा कि जो हो गया उसे बदला तो नहीं जा सकता है, लेकिन अफजल के अवशेष को उसके परिवार को सौंपकर गलती सुधारी जा सकती है। अय्यर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शि‍वसेना नेता संजय राउत ने कहा कि अफजल को फांसी दी गई, क्योंकि वह राष्ट्र विरोधी था। राउत ने कहा, 'अफजल को सुप्रीम कोर्ट और कानून ने सजा दी। अगर मणि‍शंकर अय्यर को लगता है कि अफजल के साथ नाइंसाफी हुई थी, तो उन्हें यह बयान पाकिस्तान में जाकर देना चाहिए यहां नहीं।'

गौरतलब है कि दिल्ली की तिहाड़ जेल में 9 फरवरी 2013 को यूपीए के शासनकाल में अफजल गुरु को फांसी पर चढ़ाया गया था। उसके मृत शरीर पर अलगाववादी राजनीति को रोकने के लिए शव जेल के अंदर ही दफनाया भी गया था। जम्मू-कश्मीर में पीडीपी संरक्षक और मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के पाकिस्तान और आतंकवादियों को सराहे जाने के विवादास्पद बयान से उत्साहित पीडीपी के 8 विधायकों ने सोमवार को अफजल गुरु के शव को सौंपे जाने की मांग की थी।


Share it
Top