Home > Archived > क्रिकेट विश्वकप: कौन है सबसे बड़ा दावेदार

क्रिकेट विश्वकप: कौन है सबसे बड़ा दावेदार

क्रिकेट विश्वकप: कौन है सबसे बड़ा दावेदार

विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट से पहले के सभी मुकाबले अब समाप्त हो गए हैं.
लेकिन किन टीमों की दावेदारी है सबसे अधिक विश्व कप पर.
दुनिया भर की चौदह टीमें सीधे विश्व कप में अपना जलवा दिखाएंगी. वैसे इससे पहले उन्हें कुछ अभ्यास मैच खेलने का अवसर ज़रूर मिलेगा. क्रिकेट विश्वकप टूर्नामेंट के पूल ए में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, बांग्लादेश, न्यूज़ीलैंड, अफग़ानिस्तान और स्कॉटलैंड शामिल हैं. पूल बी में गत चैंपियन भारत, दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान, वेस्ट इंडीज़, जिम्बॉब्वे, आयरलैंड और संयुक्त अरब अमीरात हैं. भारत ऑस्ट्रेलिया दौरे पर निराशाजनक प्रदर्शन करने के बाद एकदिवसीय क्रिकेट में अपनी शीर्ष रैंकिंग भी खो चुका है. पिछले दो महीनों में भारत ने ऑस्ट्रेलिया में एक भी मुक़ाबला नहीं जीता है

भारत की मुश्किल

तेज़ गेंदबाज़ ईशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार और बल्लेबाज़ रोहित शर्मा फिटनेस की समस्या से जूझ रहे हैं. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, शिखर धवन और सुरेश रैना अपनी फॉर्म में नही हैं. टीम थकी हुई लग रही है. ऑस्ट्रेलिया ने अपनी घरेलू परिस्थितियों में भारत और इंग्लैंड के ख़िलाफ़ शानदार खेल दिखाया. डेविड वॉर्नर, एरोन फिंच, स्टीव स्मिथ, ग्लेन मैक्सवैल और मिचेल मार्श जैसे बल्लेबाज़ों के दम पर इस बार यह टीम ख़िताब जीतने की सबसे बड़ी दावेदार लग रही है. मिचेल जॉनसन, जोश हैज़लवुड, मिचेल स्टार्क की तेज़ गेंदबाज़ी और आलराउंडर शेन वाटसन की मौजूदगी टीम को मज़बूती देती है. इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया में खेली गई त्रिकोणीय सिरीज़ में उन्होने भारत के ख़िलाफ तो ज़ोरदार खेल दिखाया, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ उन्हें फ़ाइनल सहित तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा. तीन बार फ़ाइनल खेलने का अनुभव रखने वाली इंग्लैंड की टीम में करिश्माई खिलाड़ियों की कमी है.

न्यूज़ीलैंड भी दावेदार

छह बार विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंच चुकी न्यूज़ीलैंड की टीम के कप्तान ब्रेंडन मैक्कुलम, रोस टेलर, केन विलियम्सन, मार्टिन गप्टिल बल्लेबाज़ी में इन दिनों कहर ढा रहे हैं तो टिम साउथी, ट्रेंट बोल्ट तथा काइल मिल्स जैसे तेज़ गेंदबाज़ भी इन दिनों फॉर्म में हैं. न्यूज़ीलैंड ने पाकिस्तान को 2-0 से हराने से पहले श्रीलंका से भी सात मैचों की एकदिवसीय सिरीज़ 4-2 से अपने नाम की. पाकिस्तान की टीम अभी उतार चढ़ाव के दौर से गुज़र रही है तो श्रीलंका को कम नहीं आंका जा सकता. महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा और तिल्करत्ने दिलशान टीम के सबसे अनुभवी बल्लेबाज़ हैं, लेकिन अब इस टीम की गेंदबाज़ी में पहले जैसी धार नही है.
द. अफ़्रीका का दमख़म
तीन बार विश्व कप सेमीफ़ाइनल खेल चुकी दक्षिण अफ़्रीका अगर 'चोकर्स' के टैग से मुक्त हो सके तो इस बार उसकी चुनौती से पार पाना मुश्किल होगा. दक्षिण अफ़्रीकी टीम में हाशिम आमला, एबी डिविलियर्स, जेपी डूमिनी और डेविड मिलर जैसे बेहतरीन बल्लेबाज़ हैं. गेंदबाज़ी में मोर्कल, फिलेंडर और डेल स्टेन जैसे तेज़ गेंदबाज़ हैं. वेस्ट इंड़ीज के पास क्रिस गेल जैसा धुरंधर बल्लेबाज़ है, लेकिन अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता. कुल मिलाकर इस बार ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और दक्षिण अफ़्रीका चैंपियन बनने के सबसे बडे़ दावेदार माने जा रहे हैं.

Share it
Top