Home > Archived > कुलियों को नई दर से नहीं मिल पा रहा मेहनताना

कुलियों को नई दर से नहीं मिल पा रहा मेहनताना

ग्वालियर। पिछले पांच वर्ष में पहली बार कुलियों की दर में बदलाव करते हुए उनका मेहनताना महज पांच और दस रुपए बढ़ाया गया है, लेकिन कुली यात्रियों का बोझा ढोने के बाद भी उसे नहीं ले पा रहे हैं।
इसका कारण यह है कि प्लेटफार्म एक पर स्थित व्हीआईपी गेट के पास चस्पा कुलियों से सामान उठवाने की दर सूची अभी तक नहीं बदली गई। पुराना बोर्ड अभी भी लटका हुआ है, जिसके चलते जब कुली नई दर से मेहनताने मांगते हैं तो यात्री उन्हें पुराने बोर्ड पर लिखी दर बताकर निकल जाते हैं। ऐसे में कुलियों की पीड़ा को सुनने वाला कोई नहीं है। हलांकि कुलियों ने कई बार डिप्टी एसएस कॉमर्शियल कार्यालय में इस बात को रखा कि पुराना बोर्ड हटाकर नई दर लिखा हुआ बोर्ड लगाया जाए, जिससे उन्हें यात्रियों से मेहनताने को लेकर चिक-चिक न करना पड़े। पर उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। हाकिम, अरुण, राजेश, अजय, विनोद, अंशारी, जावेद, गफ्फार, सुखलेश एवं जहानसिंह आदि कुलियों का कहना है कि रेल प्रशासन उनकी कोई सुनवाई नहीं करता है, जबकि रेलवे अधिकारियों को जब भी आवश्यकता पड़ती है तो यही लोग काम में आते हैं।

Share it
Top