Home > Archived > लोकतंत्र की खराबी को दूर करने का दायित्व हम सभी पर : अनिल वर्मा

लोकतंत्र की खराबी को दूर करने का दायित्व हम सभी पर : अनिल वर्मा

झाँसी। लोकतंत्र की खराबी को दूर करने का दयित्व्य हम सभी पर है, यह बात एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म के राष्टीय प्रमुख अवकाश प्राप्त मेजर जनरल अनिल वर्मा ने यात्रिक होटल के सभागार में युपी इलेक्शन वाच की चुनाव सुधार पर आयोजित एक कार्यशल में मुख्य अतिथि के तौर पर व्यक्त किए। उन्होंने कहा की अच्छे को चुने और सच्चे को चुने. उन्होंने कहा की यह मुहीम लगातार सफल हो रही है। लोकतंत्र मे जो बाहुबली और धनबली है वह सत्ता हथ्या लेते है और इमानदार और सच्चे लोग पीछे रह जाते है। हमें ऐसे अभियान चलाने है जिससे लगात लगाकर बाद मे बसूलने वाले जन प्रतिनिधियों की संख्या मे कमी आये. यूपी इलेक्शन वाच के मुख्य समन्वयक श्री संजय सिंह ने कहा की उत्तर प्रदेश इलेक्शन वाच ने पहली बार पंचायत चुनाव मे मतदाता जागरूकता का जो कार्य किया है उसके तहत पुरे बुंदेलखंड में 513 प्रत्याशी न्यूनतम खर्चे मे इमानदरी से चुनाव जीतकर आये है जिन्होंने धनबली और बाहुबलियों को चुनाव मे पराजित किया है और वो रोल मॉडल के रूप मे उभर कर आये है. आगामी विधानसभा चुनाव 2017 मे यू पी इलेक्शन वाच ्रष्ठक्र बुंदेलखंड की 10 विधानसभाओ मे मतदाता जागरूकता के लिये चुनाव के एक वर्ष पूर्व शुरू करेगा और इन विधानसभाओ मे इमानदार और स्वक्ष्य छवि के प्र्यत्याशी चुनाव जीतकर आये इसके लिये वातावरण निर्माण का कार्य करेगा. वरिष्ठ पत्रकार और यू पी इलेक्शन वाच के फ़ैलो अनिल शर्मा ने कहा कि पंचायत चुनाव मे मतदाता जागरूकता के प्रभाव से कई जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायतो मे मतदाताओं ने वोट की कीमत देने वालो को नाकारा है. ्रष्ठक्र प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र मे चुनाव जागरूकता समिति का निर्माण करेगी इसके लिये बूथ लेवल पर संघटन का ढांचा खड़ा किया जायेगा. वरिष्ठ पत्रकार वंशीधर मिश्रा ने कहा कि अनुभव पहले नंबर का ज्ञान है सिधांत गढऩे वालो से सिधांत पर चलने वाला महान होता है. ्रष्ठक्र की पहल पर आदिवासी महिलाएं भी पंचायत मे प्रधान निर्वाचित हो कर आई है. यह सकारात्मक बदलाव है. कोई भी व्यवस्था जब तक हमारे रंग मे नहीं बस जाती तब तक वह व्यवस्था सुदृठ नहीं हो सकती. शिक्षाविद सुनील तिवारी ने कहा कि लोकतान्त्रिक मूल्यों की मजबूती के लिये स्वक्ष्य और इमानदार प्र्य्ताशियो को चुनकर आना जरूरी है. जालौन से आई परमार्थ समाज सेवी संसथान की समन्वयक ममता गुप्ता ने पंचायत चुनाव मे मतदाता जागरूकता के लिये किये गये प्रयासों का प्रस्तुतीकरण किया। उन्होंने बताया की महिलयों के पंचायतो मे अधिक से अधिक चुनाव जीतकर आने के लिये उन्होंने 200 पंचायतों मे मतदाता जागरूकता का अभियान किया जिसमे गैर आरक्षित सीटो मे भी महिलाएं जीतकर आई. सामजिक कार्यकर्ता भग्गू लाल जी द्वारा बतया गया की मतदाता जागरूकता के लिये किये गये प्रयासों से इस बार बड़े पैमाने पर बाहुबली और धनबली चुनाव मे पराजित हुए है. प्रत्याशी प्रधानी का चुनाव मात्र दस से पंद्रह हजार रुपये मे जीतकर आये है. जालौन के कालपी से आये सामजिक कार्यकर्ता रामकुमार ने बतया कि जालौन के पिथौपुर गाँव मे आजादी के बाद से अब तक एक ही घर मे प्रधानी थी इस बार उनके द्वारा कई लाख खर्च करने के बाद भी उन्हें चुनाव मे पराजय का सामना करना पड़ा और एक इमानदार प्रत्याशी चुनाव जीतकर आया. ललितपुर से पधारे सामाजिक कार्यकर्ता वासुदेव जी ने कहा कि इस बार का चुनाव निष्पक्ष और शांतप्रिय रहा है. ललितपुर जिले मे बाहुबली और धनबली ग्राम पंचायत के चुनाव मे हारे. धुँरिसागर जैसे गाँव मे एक साधारण सा व्यक्ति रामस्वरूप रैकवार चुनाव जीतकर आया. हमीरपुर से आये सामाजिक कार्यकर्ता देवेंदर गाँधी ने कहा की इस बार के चुनाव मे इमानदार ऑटो चालक और बैंड की बग्घी चलने वाले भी चुनाव जीतकर आये है। मार्गश्री संस्था के रामेश्वर, आशा संस्था के अरुण, सामाजिक कार्यकर्ता राजेंदर सिंह, बृजमोहन यादव, रविंदर तिवारी ने अपने अपने सुझाव रखे।

Share it
Top