Home > Archived > अपहरण के बुने जाल में फंसा फरियादी

अपहरण के बुने जाल में फंसा फरियादी

पत्रकारों से रूबरू होते हुए पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह गौर ने किया खुलासा

अशोकनगर | देहात थाना क्षेत्र के ग्राम भौंराकाछी में मंगलवार की रात अपहरण के साथ दो लाख रूपये फिरौती मांगने की सूचना पर पुलिस सकते में आ गई। आनन-फानन में थाना प्रभारी राजवीर गुर्जर दल-बल के साथ गांव की ओर रवाना हुए। तो घटनास्थल के साथ आसपास की समीक्षा और सूझबूझ के चलते अपहरण की झूठी कहानी गढऩे वाले युवक को झाडिय़ों से अपने कब्जे में लेकर थाने ले आए।
पत्रकारों से रूबरू होते हुए पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह गौर ने बताया कि पुलिस को गुमराह कर अज्ञात लोगों द्वारा स्वयं को अपहरण की घटना से जोड़ते हुए दो लाख रूपये फिरौती की बात कहने वाला युवक मंगलवार को देर रात तक पुलिस को छकाता रहा.मशक्कत के बाद थाना प्रभारी श्री गुर्जर की सूझबूझ काम आई तब उक्त मामले का पटाक्षेप हुआ है.ग्राम भौंराखाती निवासी फरियादी बाबूलाल पुत्र कोमल सिंह कुशवाह ने 23 दिसम्बर की शाम अपने भाई रामसिंह कुशवाह उम्र 30 साल के अपहरण के संबंध में दो लाख रूपये की फिरौती के साथ अज्ञात लोगों पर आरोप लगाते हुए पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी। कि आरोपियों द्वारा रूपये न देने की स्थिति में अपर्हत हुए राजेश कुशवाह को मोबाईल पर जान से मारने की बात कही है। पुलिस द्वारा संज्ञान लेकर उक्त ग्राम में छानबीन करते हुए देर रात अपहरण की कहानी गढऩे वाले युवक को ढुढ़ निकाला।

शातिर चोर कोतवाली पुलिस के चढ़ा हत्थे
शहर में बढ़ रही चोरी की वारदातों पर सिटी कोतवाली टीआई आरबीएस सिकरवार ने संज्ञान लेते हुए विगत दिनों जाल बिछाया था.जिसमें शहर की लगभग आधा दर्जन चोरियों को अंजाम देने के साथ-साथ मजिस्टे्रट के यहां दिन में चोरी की घटना का शातिर मांइड आदतन बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़ा है.पुलिस द्वारा की जा रही पूछताछ में लगभग चार स्थानों पर अलग-अलग चोरी की वारदातों को कबूल करते हुए आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने 45 हजार रूपये मूल्य के आभूषण गैस सिलेण्डर एवं लैपटॉप बरामद किये हैं.उक्त आरोपी के विरूद्ध भादावि की धाराओं में प्रकरण दर्ज कर आगे भी पूछताछ में अन्य चोरियों के खुलासे की संभावना व्यक्त की है। पत्रकारवार्ता के दौरान एसपी श्री गौर ने बताया कि शहर में मजबूत कानून व्यवस्था एवं चोरी जैसी घटनाओं की रोकथाम के लिये लोगों से भी सजग रहने की अपील के साथ लगातार रात एवं प्रभात के समय गश्त लगाई जा रही है.साथ ही शहर को जोडऩे वाले रास्तों एवं मुख्य सड़कों पर वाहनों की चैकिंग एवं संदिग्ध लोगों की पतासाजी में पुलिस बल द्वारा लगातार निगरानी रख रहे 7 जनवरी को जिले में 100 नम्बर डायल वाहनों के आने से व्यवस्थाओं में और अधिक कसावट आने की बात कही है। शहर मेें पकड़े गये उक्त शातिर चोर की धरपकड़ में टीआई श्री सिकरवार,एसआई अक्षय सिंह बैस,एएसआई जेबीएस तोमर,इंद्रपुरी गोस्वामी,आरक्षक रामसिंह,ब्रजेश सिंह,भागीरथ राय एवं शकील उद्दीन की भूमिका पर पुलिस अधीक्षक श्री गौर ने पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Share it
Top