Home > Archived > 'अपने होने का हक तो अदा करो'

'अपने होने का हक तो अदा करो'

'बहुरि करेगा कब विषय पर परिचर्चा आयोजित

गुना। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में व्यक्तित्व विकास के तहत एक परिचर्चा आयोजित की गई। जिसमें महाविद्यालय के प्राध्यापक, अतिथि विद्वान एवं छात्र-छात्रओं ने हिस्सा लिया। परिचर्चा का विषय था ''बहुरि करेगा कब?'' परिचर्चा में प्रकोष्ठ की संयोजक डा.आभा दहीभाते ने मधुमख्खी एवं चीटियों का उदाहरण देते हुए कार्य के प्रति सही नजरिया के साथ विषय प्रवर्तन किया। बी.एस.सी. पंचम सेम के छात्र बसंत शर्मा ने सिद्धांतों से ज्यादा व्यावहारिकता पर जोर देने की बात कही। अतिथि विद्वान डॅा. मनीष गुप्ता एवं बीना गुप्त ने भी अपनी सही कार्यशैली रखने पर जोर दिया। बीएससी. पंचम सेमेस्टर की छात्रा सोनम पाराशर ने भी कुछ बिन्दुओं पर जोर दिया और कार्य टालने की आदत को दूर करने की बात कही। बीएससी. पंचम सेमेस्टर के छात्र बलदाऊ यादव ने शीर्ष नेताओं के उदाहरण दिये। प्रो.आर के वर्मा ने समय का प्रबंधन कर कार्य को बाँटकर करने की बात कही। एमए प्रथम अंगे्रजी के छात्र राधेश्याम चंदेल ने का दृढ़ संकल्प करने को कहा। डॅा. मनोज भिरोरिया ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से व्यक्तित्व में गुणात्मक सुधार होता है। कार्यक्रम में लगभग 250 छात्र-छात्राऐं उपस्थित थे।

Share it
Top