Home > Archived > अपनी ही जमीन के लिए भटक रही आदिवासी विकलांग महिला

अपनी ही जमीन के लिए भटक रही आदिवासी विकलांग महिला

* दबंगों ने किया कब्जा, झांसी रोड पर हाईवे किनारे है जमीन
* शिकायत के बावजूद आज तक नहीं हुई कार्रवाई

करैरा। जिले के दिनारा थाना क्षेत्रांतर्गत आने वाले ग्राम जरगवां में एक विकलांग आदिवासी परिवार को कुछ दबंगों ने उसकी ही जमीन से बेदखल कर दिया। इसकी शिकायत आदिवासी विकलांग महिला ने कई बार तहसीलदार से लेकर जिलाधीश तक की लेकिन आज तक महिला को न्याय नहीं मिल सका। जबकि शासकीय कागजों में आज भी आदिवासी परिवार के नाम पर ही पट्टा हैं, इसके बावजूद दबंग लोग उसकी जमीन पर काबिज हैं।
जानकारी के अनुसार सखी पत्नी स्व. लखना आदिवासी ने लिखित में जानकारी देते बताया कि जरगवां अवेवल में स्थित सर्वे क्र. 100/4/1 रकवा 0.49 हेक्टेयर है जो मेरे पति व मेरे नाम से है। उक्त भूमि राष्ट्रीय राजमार्ग झांसी-शिवपुरी रोड से लगी है जहां एक टपरिया बनी थी जिस पर सरपंच मंगल सिंह पुत्र गनेशजू यादव निवासी खिरिया पुनावली, जसवंत सिंह पुत्र दयाराम, हुकुम सिंह पुत्र पहलू यादव, अनिल, राजेश, सुनील पुत्रगण जसवंत यादव, राजकुमार पुत्र विजयराम यादव निवासी जरगवा जेसीबी सहित वहां खड़े थे और उन्होंने मुझे गाली-गलौज करते हुए वहां से भगा दिया जिसकी शिकायत मैंने दिनारा थाने में की लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया।
परेशान महिला जिलाधीश कार्यालय पहुंची जहां एडीएम को एक शिकायती आवेदन देकर दबंगों से अपनी जमीन वापस दिलाने की मांग करते हुए उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की मांग की है। *

Share it
Top