Home > Archived > अजित सिंह ने बुलाई महापंचायत, दिल्ली पुलिस ने बताया गैरकानूनी

अजित सिंह ने बुलाई महापंचायत, दिल्ली पुलिस ने बताया गैरकानूनी

अजित सिंह ने बुलाई महापंचायत, दिल्ली पुलिस ने बताया गैरकानूनी

नई दिल्ली। अजित सिंह के सरकारी बंगले को लेकर शुरु हुआ विवाद थमने का ना नहीं ले रहा हैं। अजित सिंह और उनके चाहने वालों की मांग है कि यह बंगला उनके पिता चौधरी चरण सिंह को समर्पित होना चाहिए। अपनी इसी जिद को पूरा करने के लिए अजित सिंह ने महापंचायत बुलायी। हालांकि दिल्ली पुलिस ने उनकी महापंचायत को गैरकानूनी घोषित कर दिया।
वहीं लगातार इस बढ़ते विवाद को देखते हुए महापंचायत में लोगों को शामिल होने से रोकने के लिए दिल्ली मेट्रो के कई स्टेशन को आज सुबह से बंद कर दिया गया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि जो भी इस महापंचायत में शामिल होंगे उन्हें रोका जायेगा। अजित सिंह का कहना है कि कुछ ही महीनों पहले कांशीराम के नाम पर संग्रहालय का निर्माण हुआ है, उससे पहले बाबू जगजीवन राम के नाम पर भी संग्रहालय बनाया गया है, फिर मेरी मांग को नाजायज और गैरजरूरी कैसे ठहराया जा सकता है। वहीं अजित सिंह की मांग को सरकार ठुकरा चुकी है। सरकार की ओर से कहा है कि अगर कोई मनमानी करना चाहेगा, तो उसे इसकी इजाजत नहीं दी जायेगी। लेकिन मांग ठुकराये जाने के बाद से अजित सिंह और उनके समर्थक आक्रोशित होकर आंदोलन कर रहे हैं।
पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित सिंह थ्री बेडरूम वाले साउथ दिल्ली के बंगले में शिफ्ट होंगे। उन्होंने इसे बदलने की मांग की है। अजित सिंह तुगलक रोड स्थित बंगले में ही रहना चाहते हैं। बंगले के इस विवाद के कारण पुलिस और इनेलो व भारतीय किसान सभा के सदस्यों के बीच 19 सितंबर को झड़प हो चुकी है। इस झड़प में 200 किसान और पुलिस घायल हुए थे।

Share it
Top