Home > Archived > केश शिल्पी योजना है खोखली घोषणा

केश शिल्पी योजना है खोखली घोषणा

अशोकनगर । मप्र सरकार द्वारा सेन समाज को लाभान्वित करने के लिए प्रदेश में केश शिल्पी कल्याण योजना लागू की गई थी परन्तु यह केवल मुख्यमंत्री की घोषणाओं के पिटारे में से निकली एक और घोषणा कही जा सकती है। यह बात मप्र युवा सेन समाज संगठन के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण सेन परमात्मा ने कही। वे अशोकनगर में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष हीरालाल श्रीवास, प्रदेश अध्यक्ष सुभाष वर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष माखन सिंह आदि उपस्थित थे। युवा सेन समाज के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण सेन ने बताया कि सरकार ने केश शिल्पी कल्याण योजना बोर्ड के गठन की घोषणा के पश्चात आज तक केश शिल्पी बोर्ड का गठन नहीं किया है। केश शिल्पी कल्याण योजना के तहत बोर्ड के गठन के लिए राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त नंदकिशोर वर्मा की अध्यक्षता में समिति बनाई गई थी परन्तु बोर्ड का गठन अभी तक नहीं किया गया है। जिससे मुझे लगता है कि सरकार ने केश शिल्पी कल्याण योजना सिर्फ बैंक ऋण को ध्यान में रखकर बनाई है क्योंकि इसके अतिरिक्त जनश्री बीमा, विवाह सहायता योजना, छात्रवृत्ति, चिकित्सा आदि कोई लाभ सेन समाज को नहीं मिल पा रहा है जबकि योजना के तहत यह सभी लाभ समाज को मिलने थे। प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि केश शिल्पी कार्डधारी को नि:शुल्क इलाज की पात्रता है परन्तु कोई भी चिकित्सालय बिना दीनदयाल कार्ड के नि:शुल्क चिकित्सा उपलब्ध नहीं कराता है क्योंकि सरकार ने केश शिल्पी कार्ड को आधार मानकर नि:शुल्क चिकित्सा करने के स्पष्ट आदेश आज तक नहीं दिए गए हैं और न ही आज तक किसी भी केश शिल्पी कार्डधारी को मृत्यु की दिशा में अनुग्रह राशि प्रदान की गई है। प्रवीण सेन ने कहा कि अनुग्रह राशि अपर्याप्त सहायता है बल्कि अनुग्रह राशि के साथ परिवार सहायता भी प्रदान की जानी चाहिए। इसी तरह सरकार ने आश्वासन दिया था कि केश शिल्पी समाज को अनुसूचित जाति सम्मिलित किया जाएगा परन्तु इस दिशा में भी कोई काम नहीं किया गया है।

Share it
Top