Home > Archived > अब रजिस्टर्ड होम्योपैथी,चिकित्सकों का 5 साल में होगा नवीनीकरण

अब रजिस्टर्ड होम्योपैथी,चिकित्सकों का 5 साल में होगा नवीनीकरण

भोपाल। अब प्रदेश के रजिस्टर्ड होम्योपैथी डाक्टरों को हर तीन साल के बजाये हर पांच साल में अपने रजिस्ट्रेशन का नवीनीकरण कराना होगा। इसके लिये निर्धारित फीसों में भी इजाफा हो गया है। राज्य के आयुष विभाग ने इस सम्बन्ध में अधिसूचना जारी कर दी है।
ज्ञातव्य है कि होम्योपैथी पढ़कर डाक्टर बनने वालों को राज्य में प्रैक्टिस करने के लिये मप्र होम्योपैथी परिषद अधिनियम,1976 के तहत गठित राज्य होम्योपैथी परिषद में मप्र होम्योपैथी परिषद रजिस्टर का प्रकाशन तथा अपील नियम,2009 के तहत पंजीयन कराना होता है। इस समय राज्य में करीब 5100 होम्योपैथी डाक्टर पंजीकृत हैं। उक्त नियमों में अब संशोधन कर दिया गया है। पहले हर तीन साल में विहित फीस देकर पंजीकृत होम्योपैथी डाक्टरों को अपने पंजीयन का नवीनीकरण कराना होता था और परिषद इसके बाद अपने पंजीकृत डाक्टरों का पुनरू प्रकाशन करता था, लेकिन अब नियमों में संशोधन कर नवनीकरण कराने एवं राज्य रजिस्टर का प्रकाशन करने की अवधि तीन से बढ़ाकर पांच वर्ष कर दी गई है। इसी प्रकार, आयुष विभाग ने विभिन्न प्रकार की फीसों में भी वृद्धि कर दी है।




Share it
Top