Home > Archived > तेलंगाना विधेयक के विरोध में सीमांध्र में बंद

तेलंगाना विधेयक के विरोध में सीमांध्र में बंद

तेलंगाना विधेयक के विरोध में सीमांध्र में बंद

हैदराबाद | आंध्र प्रदेश के रायलसीमा और तटीय क्षेत्रों में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के बंद के आह्वान पर जनजीवन प्रभावित हुआ।
पार्टी ने लोकसभा में तेलंगाना विधेयक के पारित होने के तरीके के विरोध में बंद का आह्वान किया है।
सीमांध्र (रायलसीमा व तटीय आंध्र) के 13 जिलों में आंध्र प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसें सड़कों से नदारद हैं, दुकानें, व्यावसायिक प्रतष्ठिान और शिक्षण संस्थान भी बंद हैं।
तेलंगाना विधेयक के लोकसभा में पारित किए जाने को 'लोकतंत्र की हत्या' करार देते हुए वाईएसआर कांग्रेस ने बंद का आह्वान किया। सीमांध्र के तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) नेताओं ने भी बंद का आह्वान किया। दोनों पार्टी के कार्यकार्ता और राज्य विभाजन का विरोध कर रहे अन्य लोग सुबह से ही सड़कों पर जमा हो गए।
संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के पुतले जलाए गए।
विजयवाड़ा, गुंटुर, विशाखापट्नम, ओंगेले, श्रीकाकुलम, काकिनाड़ा, राजामुंदरी, नेल्लोर, तिरुपति, कडप्पा, अनंतपुर, कुरनुल और अन्य शहरों में बद का व्यापक असर है।
पुलिस ने मंगलवार से ही राज्यभर में सुरक्षा के व्यापक प्रतिबंध किए। किसी भी तरह की हिंसा से बचने के लिए राज्य पुलिस व केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है।

Share it
Top