Home > Archived > लोकतंत्र के लिए राजमाता ने नहीं की धन और वैभव की चिंता: तोमर

लोकतंत्र के लिए राजमाता ने नहीं की धन और वैभव की चिंता: तोमर

लोकतंत्र के लिए राजमाता ने नहीं की धन और वैभव की चिंता: तोमर

कै. राजमाता के नाम पर चेम्बर के नए सभागार का हुआ लोकार्पण


ग्वालियर।
राजतंत्र में जीने वाले लोकतंत्र को बहुत मुश्किल से अपना पाते हैं। लेकिन स्व. राजमाता ने राजतंत्र को जीने के साथ लोकतंत्र को भी आत्मसात किया। उन्होंने लोकतंत्र के लिए धन और वैभव की कभी चिंता नहीं की। यह बात केन्द्रीय इस्पात एवं खनन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने चेम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा वातानुकूलित नवनिर्मित सभागार के नामकरण एवं लोकार्पण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने की। चेम्बर ने इस सभागार का नामकरण श्रीमंत राजमाता विजयाराजे सिंधिया के नाम पर किया है। कार्यक्रम के आरंभ में अतिथियों ने फीता काटकर सभागार का लोकार्पण किया एवं राजमाता विजयाराजे सिंधिया के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। श्री तोमर ने कहा कि स्व. राजमाता ने हमेशा ही जनता की आवाज को बुलंद करने का कार्य किया है। ऐसी आदरयोग्य विभूति के नाम का चयन नवनिर्मित सभागार के लिए करना एक सराहनीय पहल है। इसके लिए चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज की पूरी कार्यकारिणी साधुवाद की पात्र है। श्री तोमर ने कहा कि राजनीति में रहने के बावजूद श्रीमंत राजमाता ने सदैव बड़प्पन का परिचय दिया और संकट की घड़ी में हमेशा दीन-दुखियों की सहायता की। इसीलिए जनता ने उन्हें राजमाता से लोकमाता बना दिया। कार्यक्रम में भास्कर समूह के चेयरमेन रमेशचन्द्र अग्रवाल ने कहा कि देश में एक ही पार्टी की सत्ता ग्वालियर से केन्द्र तक है। इसलिए सभी प्रतिनिधि ग्वालियर विकास एजेण्डे के लिए कुछ घंटे का समय पुन: दें, जिससे ग्वालियर विकास पर बात हो सके।

दलगत भावना से ऊपर उठकर काम करे चेम्बर: यशोधरा

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि मेरे पिता ने इस संस्था की नींव शहर की आर्थिक व्यवस्था को समृद्ध बनाने के लिए रखी थी। लेकिन आज यहां जिस प्रकार से राजनीति हो रही है इसकी शायद उन्होंने कल्पना भी नहीं की होगी। उन्होंने कहा कि सरकार चाहे किसी भी पार्टी की हो, हमें आप सभी का सहयोग चाहिए ताकि हम ग्वालियर के विकास में चार-चांद लगा सकें। उन्होंने कहा कि मेरी मां के नाम से बनने वाले इस सभागार के लिए कितनी राजनीति हुई है, मुझे पता है। चेम्बर को राजनीति न करते हुए व्यापारी और शहर हित में कार्य करना चाहिए। उद्योग मंत्री ने कहा कि चेम्बर दलगत भावना से ऊपर उठकर काम करे। जिससे ग्वालियर की पहचान फिर से औद्योगिक रत्न के रूप में कायम हो सके। चेम्बर में ऐसे लोग चुनकर आना चाहिए जो ग्वालियर के व्यापार एवं उद्योग की उन्नति के लिए ईमानदारी से काम करना चाहते हों। उद्योग मंत्री ने नवनियुक्त भवन के लिए चेम्बर के अध्यक्ष विष्णु गर्ग एवं पूर्व मानसेवी सचिव विजय गोयल की तारीफ की।

औद्योगिक विकास में चेम्बर का सहयोग जरुरी: माया सिंह

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि ग्वालियर-चंबल अंचल के औद्योगिक विकास में चेम्बर का सहयोग जरूरी है। उन्होनें कहा कि राज्य सरकार ने व्यवसायियों की सुविधा के लिए तमाम कारगर कदम उठाए हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने भी सबका साथ सबका विकास का नारा दिया है। हम सब इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए मिलजुलकर काम करें। उन्होंने स्व. राजमाता विजयाराजे सिंधिया के नाम से सभागार बनाने के लिए चेम्बर की सराहना की।

इससे पूर्व चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष विष्णु गर्ग ने स्वागत उद्बोधन में में बताया कि इस भवन के रिनोवेशन में 20 लाख रुपए का खर्च आया है। नवनिर्मित सभागार के नामकरण एवं लोकार्पण समारोह में विधायक नारायण सिंह कुशवाह, महापौर समीक्षा गुप्ता, नवनिर्वाचित महापौर विवेक नारायण शेजवलकर, चेम्बर ऑफ कॉमर्स के उपाध्यक्ष डॉ. प्रवीण अग्रवाल, कोषाध्यक्ष कैलाश लहारिया, चेम्बर के पूर्व अध्यक्ष जी.डी. लड्ढा, श्रीकृष्ण दास गर्ग, गोविन्द दास अग्रवाल, सतीश अजमेरा, पीताम्बर लोकवानी, राधाकिशन खेतान, चन्द्रमोहन नागौरी, महेश मुद्गल, उमेश उप्पल, सभापति बृजेन्द्र सिंह जादौन, भाजपा जिलाध्यक्ष अभय चौधरी, स्वेदश के संपादक लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश टुडे के सपांदक राकेश पाठक, हेमन्त गुप्ता एवं गोकुल बंसल आदि गणमान्य जन उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव भूपेन्द्र जैन एवं आभार चेम्बर ऑफ कॉमर्स के संयुक्त अध्यक्ष अजित कुमार जैन ने व्यक्त किया।

Share it
Top