Home > Archived > तीन साल में भी नहीं बने शांतिधाम

तीन साल में भी नहीं बने शांतिधाम

पोहरी। गांवों में मुक्तिधाम की समस्या सबसे गंभीर है, जहां उपयुक्त और सुरक्षित स्थान के अभाव में बारिश जैसे खराब मौसम में मृतक का अंतिम संस्कार कर पाना कठिन हो जाता है। संवेदनशील मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामीणों की इस समस्या को पूरी गंभीरता से लेते हुए गांव-गांव में शांतिधाम योजना की शुरुआत की, लेकिन व्यवस्था तंत्र ने मुख्यमंत्री की इस अभिनव पहल को धरातल पर उतरने नहीं दिया। पोहरी विकासखंड के विभिन्न गांवों के लिए स्वीकृत शांतिधाम इसका प्रत्यक्ष प्रमाण हैं, जो संपूर्ण राशि प्राप्त होने के बाद भी अधूरे हैं।
जानकारी के अनुसार पोहरी विकासखंड की ग्राम पंचायतों में पिछले तीन वर्षों में विभिन्न गांवों में (प्रत्येक गांव में लगभग पांच लाख की लागत से) शांतिधाम निर्माण कार्य स्वीकृत किए गए, परंतु शांतिधाम आज भी अधूरे हैं। कहना गलत नहीं होगा कि इन अधूरे शांतिधाम के निर्माण में जितनी राशि का व्यय किया जाना कागजों में दर्शाया गया है, उससे आधी राशि भी यदि ईमानदारी से खर्च की गई होती तो आज शांतिधामों की दशा इतनी बुरी नहीं होती।
योजना के अनुसार शांतिधाम परिसर में दाह संस्कार के लिए टीनशेड युक्त चबूतरा, चारों ओर बाउण्ड्री, स्थल का समतलीकरण, नलकूप खनन के साथ सौन्दर्यीकरण के लिए वृक्षारोपण किया जाता है, लेकिन यहां कई गांवों में शांतिधाम निर्माण के नाम पर खानापूर्ति की गई है। इसके लिए केवल सरपंच और सचिव ही बल्कि जनपद व जिला पंचायत अधिकारी भी बराबर के जिम्मेदार हैं।
अपूर्ण और घटिया स्तर के बनाए गए शांतिधामों को देखकर गांवों के लोग यह सवाल भी कर रहे हैं कि ग्राम पंचायतों को पांच वर्षों में विभिन्न योजनाओं के तहत लाखों का बजट मिलता है। फिर भी कोई भी निर्माण कार्य योजना के अनुसार गुणवत्तापूर्ण तरीके से क्यों नहीं होता? लेकिन ग्रामीणों के इस सवाल का जवाब कोई दे पाएगा? कहना मुश्किल है।
दोषियों पर होगी कार्रवाई: सीईओ
जिले की जनपद पंचायत पोहरी में निर्माण कार्य एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं की राशि में की गई गड़बड़ी के संबंध में जब जिला पंचायत सीईओ से चर्चा की गई तो उनका कहना था कि उन्हें इस बारे में अभी कोई शिकायत नहीं मिली है। यदि ऐसी कोई शिकायत सामने आती है तो दोषियों के खिलाफ अवश्य कार्रवाई की जाएगी।

शांतिधाम निर्माण पर खर्च की गई राशि
ग्राम पंचायत राशि
देवरीकलां 403214
ऐनपुरा 176772
मडरका 207950
बरोद 455632
नौन्हेटा बटकाखेड़ी 477048
आमतला 340252
मडख़ेड़ा 340594
भैसरावन गढा 496989
बमरा 422597
अमरौदा 425564
सांपरबाड़ा 396760
ग्वालीपुरा 288764
सोनीपुरा 232700
खोड़ 118557

Share it
Top