Home > Archived > कर्जदारों से परेशान अधेड़ फांसी पर झूला

कर्जदारों से परेशान अधेड़ फांसी पर झूला

ग्वालियर। कर्जदारों से परेशान होकर एक अधेड़ ने अपने घर के पास स्थित एक पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। समय पर कर्ज नहीं पटा पाने के कारण कर्जदारों ने उसके मकान पर ताला लगा दिया था। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार उप नगर ग्वालियर के खिड़की मोहल्ला में रहने वाले 55 वर्षीय गब्बर सिंह उर्फ पुरुषोत्तम पुत्र मातादीन कुशवाह द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या किए जाने की सूचना पुलिस को बुधवार की सुबह मिली। पुलिस मौके पर पहुंची तो अधेड़ पेड़ पर फांसी पर झूल रहा था। मृतक के बेटों ने बताया कि गब्बर कर्जदारों से परेशान था। तीन लोगों कमल सिंह यादव, राकेश शुक्ला एवं तेजपाल कोहली से उसने करीब 5 लाख रुपये कर्ज ले रखा था। वह कर्ज पटाने की स्थिति में नहीं था। इस कारण कर्जदारों ने उसके हिस्से के मकान पर ताला लगा दिया था। मजदूरी कर पेट पालने वाले अपने बेटों ओर रिश्तेदारों से उसने कर्ज पटाकर मकान छुड़वाने की गुहार लगाई, लेकिन उसकी मदद करने के लिए कोई सामने नहीं आया।
परेशान पुरूषोत्तम को जब कहीं से कोई मदद नहीं मिली तो वह मंगलवार की शाम रामद्वारा अखाड़े पर पहुंच गया। रात में वह यहीं रुक गया। रात में ही इसने तोलिया से फंदा बनाकर गूलर के एक पेड़ से लटक कर फांसी लगा ली। सुबह बगिया में घूमने जाने वालों ने जब इसे पेड़ से लटका हुआ देखा तो पुलिस को सूचना कर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल की और पेड़ से लटके शव को नीचे उतार कर शव विच्छेदन के लिए भेज दिया। मृतक के दो बेटे वीरेन्द्र एवं मुकेश है। वीरेन्द्र का विवाह हो गया है। वह मजदूरी कर अपने परिवार का पेट पालता है एवं उसी मकान में अलग रहता है जबकि मुकेश अविवाहित है और ट्रक चालक का कार्य करता है।

तांत्रिक के पास गई पत्नी, पति फांसी पर झूला
मुरार थाना क्षेत्र अन्तर्गत दुर्गा कॉलोनी में किराए के मकान में रहने वाले रामबाबू पुत्र पातीराम जाटव ने फंासी लगा कर आत्महत्या कर ली। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक का विवाह करीब दस वर्ष पहले हुआ था। अब तक उसके कोई संतान नहीं हुई। वह अपनी पत्नी को साथ लेकर अपने परिजनों से अलग रहा रहा था। बच्चे की चाहत में मंगलवार की शाम रामबाबू की पत्नी अपनी सास को साथ लेकर एक तांत्रिक के पास बंदेज करवाने गई थी। रात में वह अपनी सास के घर पर ही रुक गई। बुधवार की सुबह 10 बजे जब वह अपने दुर्गापुरी स्थित मकान पर वापस पहुंची तो देखा कि उसका पति रामबाबू फांसी पर लटका हुआ था। उसने तुरंत पड़ौसियों को घटना की जानकारी दी। पड़ौसियों ने एकत्रित होकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग दर्ज कर शव को शवविच्छेदन के लिए भेज दिया। 

Share it
Top