Home > Archived > लोकतंत्र में अहंकार नहीं जनता की मर्जी चलती है: नरेंद्र मोदी

लोकतंत्र में अहंकार नहीं जनता की मर्जी चलती है: नरेंद्र मोदी

लोकतंत्र में अहंकार नहीं जनता की मर्जी चलती है: नरेंद्र मोदी

रांची | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज झारखंड के डालटनगंज में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ये धरती बिरसा मुंडा की धरती है और मैं इस तपस्वी की धरती को नमन करता हूं। मोदी ने बिरसा मुंडा, नीलांबर-पीतांबर और राजा मेदिनी राय का स्मरण और उनका नमन करने के साथ ही पलामू और पूरे झारखंड के लोगों को लोकसभा चुनाव में अभूतपूर्व समर्थन करने के लिए धन्यवाद दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि विधानसभा चुनाव में मेरी यह पहली सभा है। उन्होंने कहा कि वह जहां भी जाते हैं, देश के गांव, गरीब, किसान हमेशा उनके साथ होते हैं। मोदी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने वैज्ञानिकों से मुलाकात कर कृषि उत्पादन बढ़ाने के बारे में शोध की बाबत पूछा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि झारखंड के विकास के लिए परिवारवाद को दूर करना होगा। डालटनगंज के चियांकी हवाई अड्डा मैदान में आयोजित जनसभा में उन्होंने कहा कि झारखंड की धरती अमीर है, लेकिन यहां के लोग गरीब हैं। लोगों की गरीबी का कारण परिवारवाद और उनका भ्रष्टाचार है। मोदी ने कहा कि झारखंड के लोगों ने लोकसभा चुनाव में उन्हें अभूतपूर्व समर्थन दिया। इसके लिए वह लोगों को धन्यवाद देने आए हैं। उन्होंने कहा कि भारत का गरीब, किसान हमेशा उनके दिल में रहता है। इसलिए वह विदेशों में भी भारत के किसानों की हालत सुधारने के बारे में ही बात करते हैं। मोदी ने कहा कि झारखंड के मंत्री अपनी पोल खुलने से डरते हैं। इसलिए वे केंद्र के मंत्रियों के झारखंड दौरे का विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में किसी का अहंकार नहीं चलता। यहां केवल जनता की मर्जी चलती है। मोदी ने कहा कि मैं झारखंड की सेवा करना चाहता हूं। मैं झारखंड के गरीबों, आदिवासियों और युवाओं की सेवा करना चाहता हूं। इसका एक मौका मुझे दें। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में किसी का अहंकार नहीं चलता। लोकतंत्र में जनता ही सब कुछ होती है। वह देती है तो छप्पर फाड़ कर और लेती है तो सब कुछ लूट लेती है। इसलिए सत्ता के नशे में डूबे लोगों को सचेत हो जाना चाहिए।

Share it
Top