Home > Archived > कर्नाटक की हार से भाजपा नाखुश

कर्नाटक की हार से भाजपा नाखुश

कर्नाटक की हार से भाजपा नाखुश

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में हार से भाजपा जितनी चकित है उतनी ही नाखुश भी। पार्टी नेताओं को कहना है कि हार की समीक्षा करने की जरूरत है। कर्नाटक में करारी हार के बाद भाजपा नेता स्तब्ध होने की बात कह रहे हैं। नेता अब अपनी कमियों को दूर करने की बात कर रहें हैं। भाजपा नेता पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा को भी अपनी हार का एक कारण मान रहें हैं।
कर्नाटक में पार्टी की हार के बाद आज महासचिव राजीव प्रताप रूड़ी ने कनार्टक की हार के बारे में पूछे जाने पर यहां कहा कि हम स्तब्ध हैं। हम इस हार से नाखुश और चिंतित हैं। कई ऐसे कारण थे जिनकी वजह से पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल प्रभावित हुआ। उन्होंने कहा कि पार्टी हार के कारणों का विश्लेषण करेगी और पता करेगी कि ऐसा क्यों हुआ।
राज्य सभा में पार्टी के उपनेता रविशंकर प्रसाद ने पार्टी की हार के लिए येदियुरप्पा को भी जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा ने भाजपा का अच्छा खासा वोट काट लिया, जिसके कारण पार्टी को करारी हार का सामना करना पडा। वैसे, प्रसाद ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर येदियुरप्पा से अलग रहने के फैसलो को जायज ठहराया। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे थे और लोकायुक्त ने भी इसका संज्ञान लिया। प्रसाद ने कहा कि कुछ मुद्दों पर समझौता नहीं किया जा सकता और भ्रष्टाचार ऐसा ही एक मुद्दा है। प्रसाद ने कहा कि 1989 से एक ट्रेंड है, जो पार्टी कर्नाटक में जीतती है वह लोकसभा में हार जाती है। इसलिए मुझे भरोसा है कि हम लोकसभा चुनाव में जीतेंगे। दूसरी ओर, भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस अपनी खूबियों की वजह से नहीं जीती है। उन्होंने कहा कि इस जीत के बाद कांग्रेस हसीन सपने ना देखे। हुसैन ने कहा कि हमारी कुछ कमियां रहीं होंगी जिससे हम हारे लेकिन कांग्रेस हसीन सपने नहीं देखे। भाजपा नेता ने कहा कि कांगेस भ्रष्टाचार की दलदल में फंसी है और कर्नाटक की जीत उससे कोई सहारा नहीं मिलने वाला हैं।

Share it
Top